INDORE का व्यापारी हनीट्रेप का शिकार, विदेशी गर्ल ने दिल्ली बुलाकर फंसाया | CRIME NEWS

Friday, April 27, 2018

इंदौर। इंदौर का 50 वर्षीय फर्नीचर व्यापारी पंकज गांधी हनीट्रेप का शिकार हो गया। उसे एक विदेशी लड़की ने बड़ी ही आसानी से अपने जाल में फंसा लिया। पहले फेसबुक पर दोस्ती की फिर वाट्सएप पर चैटिंग उसके बाद दिल्ली में डेट फिक्स हुई। एक विदेशी लड़की के साथ डेट के लिए पंकज गांधी काफी एक्साइटेड था। लड़की ने उसे नशीली ड्रिंक आॅफर की तो पंकज ने खुशी से पी ली। फिर दोनों के बीच काफी कुछ ऐसा हुआ जो दुनिया को बताया नहीं जा सकता। खुशी खुशी लौटकर आए पंकज के होश तो तब उड़े जब ब्लैकमेलिंग की शुरूआत हुई। अंतत: साइबर सेल ने पंकज को इस जाल से बचाया। 

DELHI में हुई प्राइवेट पार्टी
सायबर सेल एसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि 23 मार्च को कंचनबाग निवासी 50 वर्षीय फर्नीचर व्यापारी पंकज गांधी ने ग्लोरी नामक विदेशी युवती के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत की थी। ग्लोरी ने पंकज को फेसबुक पर एक लिंक भेजी थी। क्लिक करने पर प्रोफाइल खुली। आकर्षक फोटो देख पंकज ने उससे बातचीत शुरू की। कुछ दिन बाद वाट्सएप पर बातें होने लगी। ग्लोरी ने पंकज को मिलने के लिए दिल्ली बुलाया। पंकज का आरोप है कि युवती ने उसे नशीला पेय पिला दिया। फिर दोनों ने काफी समय साथ बिताया। पंकज इंदौर लौट आया। उसके बाद फोन पर ग्लोरी ने पंकज से पहले तो कहा कि वह परेशान है। उसे रुपयों की जरूरत है।

VIDEO आया तब आंख खुली
पंकज ने इनकार किया तो ग्लोरी और उसके साथी सुमित प्रजापति निवासी खानपुर, अंबेडकर नगर (दिल्ली) ने अश्लील वीडियो भेजे। तब पता चला कि दिल्ली बुलाकर ग्लोरी ने पंकज के साथ क्या किया था। आरोपित वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगे। बदनामी के डर से पंकज ने नकद और पेटीएम के जरिये 4 लाख रुपए उनके बताए खातों में जमा करवा दिए। उसके बाद भी वे रुपए मांगते रहे थे। जांच में पता चला कि पंकज से युवती ने पहले कहा कि वह गर्भवती हो गई है। उसके इलाज का खर्च चाहिए। कुछ दिन बाद कॉल किया कि वह ग्लोरी की बहन बोल रही है। ग्लोरी की प्रसव के दौरान मौत हो गई है। अब उसे रुपए चाहिए।

TOURIST VISA पर इंडिया आई थी युवती
एसपी के मुताबिक तकनीकी जांच में पता चला कि जिस मोबाइल नंबर पर बात हो रही थी, वह फर्जी है। ग्लोरी का असली नाम-पता नहीं मिल पा रहा था। जिन खातों में रुपए डाले, वे सुमित, उसके भाई संदीप व रीटा काटजू के हैं। इनकी लोकेशन दिल्ली की निकली तो चार दिन पहले एक टीम वहां पहुंची। स्थानीय लोगों की मदद से आरोपितों की जानकारी जुटाई गई। एक ऑटो रिक्शा वाले ने बताया कि तंजानिया, केन्या और नाइजीरिया के युवक-युवती बड़ी संख्या में दिल्ली के राजपुरा एक्सटेंशन में रहते हैं। ऑटो वाले की मदद से टीम वहां पहुंची। उसके बाद हुलिए के अनुसार लड़की को वहीं से गिरफ्तार किया गया। उसने बताया कि उसका असली नाम साउमी एलियास ग्लोरी निवासी तंजानिया है। वह पिछले डेढ़ साल से यहां रह रही है। वह टूरिस्ट वीजा पर दिल्ली आई थी।

DEPARTMENTAL STORE मालिक ने रची साजिश
केस की जांच कर रहे एसआई विनोद राठौर ने बताया कि साउमी की निशानदेही पर ही सुमित को गिरफ्तार किया गया। सुमित का राजपुरा एक्सटेंशन में डिपार्टमेंटल स्टोर है। उसके चार भाई हैं। उसके स्टोर पर विदेशी खरीदारी करते हैं। यहीं उसकी साउमी से दोस्ती हुई थी। दोनों ने ठगी का षड्यंत्र रचा था। साउमी को फर्जी खाते उपलब्ध करवाने का काम सुमित का था। सुमित के भाई संदीप से पूछताछ की तो पता चला कि संदीप का खाता वही ऑपरेट करता था। संदीप का केस से कोई लेना-देना नहीं है।

रीटा काटजू SINGAPORE भाग गई
जांच टीम के सदस्य हेडकांस्टेबल रामप्रकाश वाजपेयी व सिपाही गजेंद्र सिंह ने बताया कि खाताधारकों की जांच की तो 65 वर्षीय महिला रीटा काटजू का नाम सामने आया। उसने फरवरी में पुराने घर के पते पर आईसीआईसीआई बैंक में खाता खुलवाया था। दो माह में उसके खाते में 16 लाख रुपए जमा हुए। जब टीम उसके ठिकाने पर पहुंची तो पता चला कि वह बेटी के साथ सिंगापुर भाग गई। उसे जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। पंकज द्वारा जमा कराए गए 4 लाख रुपयों में से ढाई लाख सायबर सेल ने बचा लिए हैं। बाकी रुपए आरोपित खर्च कर चुके हैं।

BHOPAL पासपोर्ट ऑफिस से मांगी जानकारी
एसपी ने बताया कि साउमी पूछताछ में पुलिस को सहयोग नहीं कर रही है। उसने यही बताया कि वह मां के इलाज के लिए आई थी। मां को तंजानिया भेज दिया और वह दिल्ली में रुक गई। जब उससे पासपोर्ट मांगा तो उसने इनकार कर दिया। आशंका है कि उसका वीजा एक्सपायर हो चुका है। उसकी जानकारी के लिए भोपाल पासपोर्ट ऑफिस संपर्क किया जा रहा है। केस के बारे में तंजानिया दूतावास को भी जानकारी भेजी गई है। वहां से उसका रिकॉर्ड मांगा गया है। पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah