HOSHANGABAD: सारी रात चली कांग्रेस नेताओं की धरपकड़, शिवराज के जाने तक नजरबंद | MP NEWS

26 April 2018

होशंगाबाद। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कीरतपुर आगमन को लेकर जिला कांग्रेस अध्यक्ष पुष्पराज सिंह पटेल को जहां पुलिस प्रशासन ने पचमढ़ी में नजर बंद कर दिया। वहीं इटारसी में कांग्रेस संगठन के पदाधिकारियों को आधी रात को डेढ़-दो घंटे सिटी थाने में रखकर होशंगाबाद की एक होटल में नजरबंद रखा गया। पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी धारा 151 में की। बुधवार की दोपहर सीएम के जाने के डेढ़ घंटे बाद इन नेताओं को मुचलके पर छोड़ा गया। 

होशंगाबाद पुलिस को यह सूचना मिली थी कि कांग्रेस कार्यकर्ता सीएम के समक्ष प्रदर्शन कर सकते हैं। इसी के चलते संगठन पदाधिकारियों की रात में ही घेराबंदी होने लगी। इनका कहना था अगर पुलिस हमें हिरासत में नहीं लेती तो हम महिला अपराधों पर विरोध प्रदर्शन करने वाले थे। काले झंडे तैयार कर रखे थे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर सीएम के काफिले को काले झंडे दिखा ही दिए। थाने से छूटने के बाद पार्टी कार्यकर्ता जयस्तंभ चौक पर आए और नारेबाजी की। 

कांग्रेस अध्यक्ष पंकज की यह जुबानी 
पुलिस दोपहर में तीन-चार बार हमारे घर आई। पुलिसवाले पूछ रहे थे कल सीएम के आने पर आप लोग क्या करने वाले हो। हमने इंकार कर दिया। फिर रात 10 बजे फिर थाने बुलाया गया। उसी समय अन्य संगठन पदाधिकारी भी आ गए। वहां टीआई व अन्य पुलिस वालों ने बातचीत की। फिर हम वापस आ गए। रात 12 बजे के बाद जब मैं छटवीं लाइन में बैठा था। वहीं पुलिस की गाड़ी आ गई। मुझसे बात करने थाने चलने को कहा। पुलिस ने कहा, गाड़ी में बैठ जाइए। गाड़ी में बैठते ही मेरा मोबाइल फोन ले लिया। फिर गाड़ी सड़कों पर घुमाते रहे। रास्ते में मुझसे पार्टी पदाधिकारियों को फोन लगाकर थाने बुलाने को कहा। मैंने इंकार कर दिया। 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिखाए काले झंडे 
बुधवार सुबह 8 बजे से सीएम के आने तक पुलिस कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर नजर रख रही थी। उनकी धरपकड़ भी की। प्रतीक मालवीय व जयदीप महालहा को सुबह पकड़ा। हाईवे पर जहां कांग्रेस के कार्यकर्ता दिखे उन्हें पकड़ लिया। इसके बावजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर सीएम की गाड़ियों का काफिला निकलने पर काले झंडे दिखा ही दिए। उस समय पुलिस ने अनुभव भदौरिया, राहुल दुबे, विक्की साहू को पकड़ लिया। इनके साथ मारपीट होने पर अस्पताल में मेडिकल जांच करवाई गई। पथरौटा के एक ढाबे से विक्रमादित्य तिवारी, सौम्य दुबे, अभिषेक साहू, गोल्डी बैस, जय मालवीय, अक्षत नामदेव को पुलिस ने पकड़ा। सभी को जमानत करवानी पड़ी। 

इन संगठन नेताओं को भी थाने लाई पुलिस 
पुलिस की गाड़ी गांधीनगर में युवक कांग्रेस के लोकसभा क्षेत्र महासचिव सम्राट तिवारी, के घर गई। रेस्ट हाउस के सामने से एनएसयूआई के पूर्व नगर अध्यक्ष हिमांशु अग्रवाल बाबू को हिरासत में लिया। पुलिस ने फिर जिला कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष शेष मेहरा को फोन लगाया। कॉल अटेंड करने पर उन्हें घर से ले आए। फिर व युवक कांग्रेस विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष मयूर जायसवाल, गोल्डी चौधरी तथा सूरजगंज चौराहे से कांग्रेस के जिला प्रवक्ता राजकुमार उपाध्याय को ले आए। पुलिस ने कहा आप चिंता न करो, हम घर पर सूचना कर देंगे। 

आधी रात को थाने से होशंगाबाद ले गए 
इन सभी को रात ढाई बजे तक थाने के एक कमरे में रखा। पहले कहा कि अरेस्ट कर लिया पचमढ़ी ले जाएंगे। थाने के सामने कार्यकर्ताओं की भीड़ लगने पर संगठन नेताओं को पुलिसकर्मी दो गाड़ियों से होशंगाबाद में बस स्टैंड के पास ग्लाेरी होटल ले गए। वहां चार-पांच पुलिसकर्मियों की कस्टडी में रखा। सुबह नाश्ता करवाया फिर खाना खिलवाया। इन पर 151 का प्रकरण दर्ज कर दोपहर में मुचलके पर छोड़ा। 

NSUI नेता को 3 घंटे थाने में बैठाया 
इटारसी में सीएम को काले झंडे दिखाने की आशंका को लेकर एनएसयूआई के प्रदेश सचिव रोहन जैन को कोतवाली पुलिस ने एहतियात के तौर पर थाने में बैठा लिया था। टीआई अनूप नैन ने बताया सभी कांग्रेसियों पर पुलिस की नजर थी। लेकिन रोहन जैन को ही थाने में बैठाया गया था। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week