'जय भीम' नहीं बोला, 1 साधू का हाथ तोड़ दिया, दूसरे का सिर फोड़ा | NATIONAL NEWS

04 April 2018

भोपाल। भारत बंद के दौरान हुई हिंसक गतिविधियों की कहानियां सामने आ रहीं हैं। अस्पताल में भर्ती श्यामदास महाराज उर्फ लाल बाबा, ध्रुव दास महाराज और पूरन दास महाराज ने बताया कि सोमवार को अचानक भीड़ ने उन्हे घेर लिया और 'जय भीम' बोलने को कहा। ऐसा नहीं किया तो भीड़ ने हमला कर दिया। 2 साधुओं के हाथ टूट गए। सिर में गंभीर चोटें आईं। ग्रामीणों ने किसी तरह साधुओं को बचाया और अस्पताल पहुंचाया। घटना ग्वालियर की है। 

जानकारी के अनुसार, श्यामदास महाराज उर्फ लाल बाबा, ध्रुव दास महाराज और पूरन दास महाराज के शरीर में चोटों के निशान हैं। साधुओं का आरोप है कि सोमवार को लाठी, डंडे और सरियों से लैस लोगों ने उन्हें घेर लिया और जय भीम बोलने के लिए कहा। बाबा श्यामदास ने उपद्रवियों से कहा कि साधु राम नाम जपता है, उसके सिवाय हमें किसी से क्या काम। इतना सुनते ही उपद्रवियों ने लाठियां बरसानी शुरू कर दी।

श्यामदास बाबा का कहना है कि हाथों में लाठी-डंडे और सरिए लिए बहुत सारे लोगों ने साधुओं को पीटा। इस दौरान गांव वालों ने साधुओं को बचाया और इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया। दो साधुओं के हाथों में फ्रैक्चर है। वही एक साधु के सिर में गंभीर चोट लगी है। ग्वालियर में सोमवार को हुई हिंसा में तीन लोगों की मौत हो गई थी और करीब 200 लोग घायल हो गए थे। घायलों में 51 पुलिसकर्मी भी शामिल हैं. ग्वालियर शहर के तीन थाना क्षेत्रों में सोमवार से ही कर्फ्यू जारी है।


-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->