LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




2 टीचर डर्टी टच करते थे, फेल करने की धमकी देते, छात्रा ने सुसाइड कर लिया | CRIME NEWS

21 March 2018

नोएडा। परीक्षा में कम नंबर आने पर स्कूल टीचर की प्रताड़ना से परेशान 9वीं की छात्रा इकिशा शाह (16) ने मंगलवार शाम फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इकिशा मयूर विहार स्थित एक नामी एल्कॉन स्कूल में पढ़ती थी। उसका परिवार नोएडा सेक्टर-52 में रहता है। उसके पिता राघव शाह प्रसिद्ध कथक डांसर और बिरजू महाराज के शिष्य हैं। परिजन का आरोप है कि छात्रा काफी समय से डिप्रेशन में थी। उसने कई बार शिकायत की थी कि दो टीचर उसे गंदे तरीके से टच करते हैं और शिकायत करने पर उन्होंने फेल करने की धमकी भी दी थी। आरोपी टीचरों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

लड़की के पिता का आरोप है- ''बेटी मुझसे बोलती थी कि दो टीचर अकेले में मुझे टच करते हैं। दोनों मुझे फेल कर देंगे और ऐसे ही हुआ। मैं बोलता था- बेटा टीचर गुरु होते हैं। फिर भी उनसे थोड़ा दूर रहना। मेरी बेटी को सात नंबर दिए हैं। स्कूल का प्रिंसिपल भी बेटी से ठीक से बात नहीं करता था, जब उसकी तबियत खराब थी।

तीन दिन पहले बेटी स्कूल के बच्चे के यहां साइंस की तैयारी करने गई थी। बेटी ने कहा- पापा मैं साइंस तो किसी भी तरह निकाल लूंगी, लेकिन एसएसटी वाले मुझे फेल कर देंगे। आज सुबह बेटी से कहा कि तुम अच्छे से पढ़ाई करना। मैं जा रहा हूं। फांसी लगाने से 20 मिनट पहले मैं मेट्रो में था तो बेटी ने फोनकर बोला- पापा मेरे लिए कोई कपड़ा ला रहे हो।

दो विषय में आई थी कंपार्टमेंट
इकिशा का 16 मार्च को ही रिजल्ट आया था। उसका साइंस और एक अन्य विषय में कंपार्टमेंट (सप्लीमेंट्री) आया था। कम नंबर आने को लेकर मेल टीचर ने इकिशा को डांट दिया था, जिससे वह परेशान हो गई थी। उसी दिन से वह अपने पिता राघव शाह से कथक डांस सीखने में भी दिलचस्पी नहीं दिखा रही थी।

आरोपी शिक्षकों पर केस दर्ज
नोएडा सिटी एसपी अरुण सिंह के मुताबिक, लड़की के पिता ने आरोप लगाए हैं कि उनकी बेटी के साथ स्कूल के दो टीचरों ने छेड़खानी की और उसे जानबूझ कर फेल कर दिया।
- पुलिस ने आरोपी टीचरों के खिलाफ 306, 506 और पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। केस की जांच चल रही है।

लड़की फेल नहीं हुई थी: प्रिंसिपल
वहीं स्कूल के प्रिंसिपल धर्मेंद्र गोयल ने कहा कि यह दुखद घटना है। हमारा स्कूल चाइल्ड फ्रेंडली है। स्कूल सीबीएसई की प्रमोशन पॉलिसी फॉलो कर रहा था। मृत लड़की फेल नहीं हुई थी। बल्कि उसका री- टेस्ट आया था। हम जांच एजेंसी और परिवार की हरसंभव मदद के लिए तैयार हैं।

हमेशा कुछ नया करने की सोचती थी
खुदकुशी की खबर मिलते ही इकिशा के साथ कथक सीखने वालीं काफी छात्राएं सेक्टर-52 स्थित उसके घर पर पहुंच गईं। घर में गमगीन माहौल था। इकिशा के माता-पिता रो रहे थे। वहां जुटे लोग और रिश्तेदार उन्हें सांत्वना दे रहे थे। परिजन ने बताया कि वह काफी अच्छा कथक डांस करती थी। उसे यह विधा पिता से विरासत में मिली थी। वह हमेशा कुछ नया करने की सोचती थी। इकिशा की कॉपी-किताबों के जरिए यह भी पता लगाया जा रहा है कि उसे किसी और तरीके से तो परेशान नहीं किया जा रहा था।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->