Advertisement

पढ़िए वास्तु के अनुसार कैसा है BJP के नया हेडक्वार्टर | NATIONAL NEWS



नई दिल्ली। बीजेपी ने अपने केंद्रीय कार्यालय बदल लिया है। नया पता 6 दीनदयाल उपाध्याय मार्ग है। पहले यह 11 अशोक रोड पर था। ज्योतिष के मुताबिक, 6 दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित बीजेपी का नया मुख्यालय 11 अशोक रोड वाले ऑफिस से अधिक भाग्यशाली साबित होगा। ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद पंडित अरुणेश कुमार शर्मा के अनुसार यह बीजेपी के लिए लकी होगा क्योंकि इसका मुख्यद्वार उत्तर-पूर्व में है और भवन निर्माण वास्तु अनुरूप है। परिसर का लगभग दो तिहाई भाग पूर्व और उत्तर की दिशा में खुला रखा गया है। मुख्य प्रासाद के सामने कमलनुमा तालाब बनाया गया है। यह भी वास्तु शुभता को बढ़ाने वाला है।

अगर पूर्व मुख्यालय 11 अशोक रोड की बात की जाए तो इसका मुख्यद्वार यम की दिशा अर्थात् दक्षिण दिशा में था. यहां मुख्यालय रहते भाजपा के लिए सत्ता स्थिरता की स्थिति को बहुत प्रभावी नहीं माना जा सकता. भाजपा के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी को सत्ता के लिए कठिन संघर्ष करना पड़ा था. पहले उनकी 13 दिन और 13 महीने ही चली. इसके बाद उन्हें 5 वर्ष का एनडीए की सरकार का कार्यकाल मिला. यह विभिन्न झंझावातों से भरा रहा. उनमें कंधार हाईजैक की घटना हो या आतंकियों को छोड़ने का मामला हो अथवा संसद पर हमला. सभी बाजपेयी सरकार में हुए. इसके बाद 2003 में अटल सरकार अपार लोकप्रियता और इंडिया शाइनिंग के नारे के बावजूद सत्ता में वापसी नहीं हुई. 2009 में भी असफलता ही हाथ लगी.

2013 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिले अप्रत्याशित जनसमर्थन ने भाजपा को सत्ता में वापसी तो करा दी लेकिन मुख्यालय 11 अशोक की कमजोर वास्तु ने भाजपा की सरकार को अब तक सहज नहीं होने दिया है. लगभग पूरे भारत में आज भाजपा की सत्ता होने के बावजूद सत्तादल के लोगों को वह सुख सौख्य सहजता अनुभव नहीं हो रही जो होना चाहिए. संभवतः 6 पंडित दीनदयाल उपाध्याय मार्ग के मुख्यालय में कामकाज शुरू होने के साथ जल्द ही उक्त सुख सौख्य सहजता प्राप्त हो. 2018-19 में लोकसभा सहित मुख्य राज्यों में चुनाव भी होना है. ऐसे में भाजपा का नया मुख्यालय भाजपा के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाला है. इसकी सकारात्मक ऊर्जा निश्चित ही भाजपा की इस बड़ी लड़ाई में सहायक होगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता में इजाफा करेगी. संभवतः इस खूबी को ध्यान में रखकर ही पार्टी ने इस कार्यालय को महज दो साल में तैयार कर लिया है.

बीजेपी बनी लुटियन जोन से अपना मुख्यालय बाहर ले जाने वाली पहली पार्टी
इसके अलावा बीजेपी सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार लुटियन जोन से अपना मुख्यालय बाहर ले जाने वाली पहली पार्टी भी बन गई है. यहां स्पष्ट कर दें कि वास्तु में उत्तर-पूर्व की दिशा को सबसे शुभ माना जाता है. ईशान कोण की यह दिशा दैवीय स्थान मानी जाती है. इसे हल्का स्वच्छ और नम्य रखा जाता है. यहां प्रवेश द्वार होने पर जो भी ऐसे भवन में प्रवेश करता है वह शुभता सकारात्मकता का ही वाहक होता है. भवन के अंदर श्रेष्ठ वातावरण निर्मित होता है. उत्तर की दिशा को कुबेर की दिशा भी कहा जाता है.

अब कांग्रेस पर भारी बीजेपी
24 अकबर रोड पर स्थित कांग्रेस मुख्यालय का मुख पूर्व की ओर है. भापजा के नए भवन की तुलना कांग्रेस के वर्तमान मुख्यालय से की जाए तो निश्चित ही अब भाजपा का पलड़ा भारी हो गया है. हालांकि कांग्रेस को भी यह मुख्यालय देर सबेर छोड़ना ही होगा. लेकिन यदि कांग्रेस इस भवन से ही 2018-19 के लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों में जाती है तो उसकी मुश्किल और बढ़ जाएगी. कारण, कांग्रेस पार्टी का मुख्यालय भवन पूर्व दिशा में अवश्य है लेकिन उसका दक्षिण का भाग खुला है जबकि उसने उत्तर दिशा के भाग में कार्यालय की आवश्यकता को देखते हुए कई निर्माण किए हैं. इससे उत्तर-पूर्व दिशा का परिसर भारी हो गया है. जो शुभ नहीं माना जा सकता है. ऐसा ही निर्माण पुराने बीजेपी कार्यालय 11 अशोक रोड में भी हुआ है लेकिन कार्यालय शिफ्ट होते ही अब उसका कोई महत्व नहीं रह गया है.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस का मुख्यालय भी डीडी मार्ग पर
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी का मुख्यालय पंडित दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर ही है. वह भी वास्तु के अनुरूप है. जबकि पंत मार्ग का भाजपा प्रदेश कार्यालय पश्चिम दिशा मे है. यहां यह समझ पाना बहुत सहज है कि कांग्रेस ने दिल्ली राज्य में तीन बार सत्ता सम्हाली है. जबकि भाजपा अच्छे मौके बनने के बाबजूद चार अवसर चूक चुकी है.

छत्तीसगढ़ भाजपा ने माना पुराने मुख्यालय को लकी
भारतीय जनता पार्टी छत्तीसगढ़ में अगला विधानसभा चुनाव भी पुराने कार्यालय से ही लड़ेगी. इसके लिए पुराने कार्यालय एकात्म परिसर का जीर्णोद्धार प्रारंभ कर दिया गया है. यहां यह बताना जरूरी है कि प्रदेश भाजपा का नया भव्य मुख्यालय नया रायपुर के करीब बोरियाकलां में स्थापित है. इसका उद्घाटन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने किया था. लेकिन इसका मुख्यालय दक्षिण-पूर्व में है. इसमें दो बार बदलाव भी किया गया है. लेकिन अंत में स्थानीय नेताओं ने पुराने भवन एकात्म परिसर से ही चुनाव में उतरने की तैयारी कर ली है. इस भवन का मुख्यद्वार उत्तर दिशा में है.