तीसरे दिन भी सुलगता मिला कासगंज, कर्फ्यू के बाद भी दुकान जलाई | NATIONAL NEWS

Sunday, January 28, 2018

नई दिल्ली। ​अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की एक रैली से शुरू हुई साम्प्रदायिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। कर्फ्यू होने के बावजूद आगजनी की घटनाएं सामने आईं हैं। शुक्रवार को हत्या और शनिवार को अंतिम संस्कार के बाद हिंसा भड़की थी। रविवार को सुबह पता चला कि एक दुकान जला दी गई है। पिछले दो दिनों से कासगंज में कर्फ्यू लागू है, पीएसी और पुलिस के जवान तैनात हैं, लेकिन हिंसा और आगजनी की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान दो गुटों में हुई झड़प के बाद अब भी इलाके में तनाव बना हुआ है। पूरे शहर में धारा 144 लागू करने के साथ ही कई इलाकों और नेटवर्क की इंटरनेट सेवा ठप कर दी गई हैं फिर भी हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। 

अब तक 50 गिरफ्तार, एटा DM ने बताया साजिश 
मौके का जायजा लेने पहुंचे एटा के DM आरपी सिंह ने बताया कि अब तक हिंसा फैलाने के आरोप में नामजद 9 लोगों सहित अब तक कुल 50 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। आरपी सिंह ने कहा कि इन सबके पीछे कुछ लोग हैं, हमने उनमें से कुछ की पहचान कर ली है। उन्होंने बताया कि रविवार को हुई हिंसा की किसी घटना में एक भी व्यक्ति घायल नहीं हुआ है। उनका कहना है कि इस सबके पीछे साजिश हो सकती है, हालांकि मुझे इस बारे में नहीं मालूम है। इससे पहले कर्फ्यू लगाने और भारी सुरक्षा बलों की तैनाती के बावजूद शनिवार को भी कासगंज हिंसा की आग में जलता रहा। उपद्रवियों ने बसों और कई अन्य वाहनों में आग लगा दी थी।

हालात काबू में, अफवाहों पर नियंत्रण कर लिया है 
दूसरी ओर एडीजी आनंद कुमार ने शनिवार को दावा किया था कि कासगंज में शुक्रवार के बाद कोई हिंसा नहीं हुई है। किसी के जान का कोई नुकसान नहीं हुआ है। उनका कहना था कि कुछ उपद्रवी तत्वों ने शनिवार को चंदन के दाह संस्कार के बाद एक बस में आग लगाने की कोशिश की। एक झोपड़ी जलाने की कोशिश की लेकिन इसे कंट्रोल कर लिया गया है। उपद्रवी तत्वों की तरफ से अफवाह फैलाने की कोशिश हुई है। सोशल मीडिया में भी अफवाह फैलाने की कोशिश की गई है, लेकिन इसे सफलतापूर्वक रोका गया है।

हिंसा पर अखिलेश यादव का बयान
कासगंज की घटना पर उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा है कि गणतंत्र दिवस पर ऐसी घटना दुखद व दुर्भाग्यपूर्ण है और दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। अखिलेश ने कहा कि सरकार को कासगंज में अमन चैन का माहौल कायम करना चाहिए।

मृतक के पिता की गुहार
हिंसा में शुक्रवार को दम तोड़ने वाले युवक चंदन गुप्ता के पिता द्वारा जिन लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है, उनमें से भी तीन लोग गिरफ्तार कर लिए गए हैं। उपद्रवियों में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम गठित की गई है। इस बीच इलाके के IG का अजीब बयान आया है। आजतक की टीम मौके पर पहुंच चुकी है और जब आजतक ने इलाके के IG संजीव गुप्ता से दोबारा हिंसा भड़कने के बारे में पूछा तो उनका जबाव था कि ये अराजक तत्व हैं, अराजक तत्व मजा लेने के लिए इस तरह का कार्य कर रहे हैं।

उपद्रवियों ने की आगजनी
वहीं, मृतक चंदन यादव की अंत्येष्टि के बाद दूसरे दिन उपद्रवियों ने कहर बरपाते हुए कई दुकानों में लूट पाट कर आग के हवाले कर दिया है। साथ ही बसों में भी आग लगाई गई है। मौके पर प्रशासनिक आला अधिकारी मौजूद हैं। पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ा है।

शनिवार की सुबह कर्फ्यू में ढील देने की बात से इनकार करते हुए संजीव गुप्ता ने कहा कि जो भी हिंसा फैलाता मौके पर मिलेगा, उसके खिलाफ सख्ती से कार्रवाई होगी। हालांकि वह यह भी कह गए कि अगर कोई खाली स्थान देखकर छोटी गुमटी में आग लगा देता है तो उसके लिए क्या किया जा सकता है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week