पीएम मोदी ने अंधविश्वासी नेता को सीएम बनाया | NATIONAL NEWS

Wednesday, December 27, 2017

नई दिल्ली। नोएडा में ड्राइवरलैस मेट्रो ट्रेन का शुभारंभ करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जो व्यक्ति अंधविश्वासी होता है, मेरी नजर में वो सीएम बनने के योग्य ही नहीं होता परंतु आज हिमाचल प्रदेश में उन्होंने एक अंधविश्वासी विधायक को सीएम बना दिया। 25 दिसम्बर को ही पीएम मोदी ने नोएडा में कहा था If anybody thinks not going to a place will prolong their CM tenure and visiting a place will curtail it, such a person does not deserve to be a Chief Minister: @PMOIndia. सवाल यह है कि पीएम मोदी के विचार 2 अलग-अलग प्रदेशों में अलग-अलग क्यों हो गए। 

बता दें कि चुनाव हारने के बाद प्रेमकुमार धूमल के सीएम बनने की सभी संभावनाएं खत्म हो गईं थीं। प्रमुख दावेदारों में केवल 2 ही नाम थे। जेपी नड्डा और जयराम ठाकुर। समीक्षकों का कहना था कि जेपी नड्डा के चांस ज्यादा हैं। इसी बीच जयराम ठाकुर को पता चला कि हिमाचल के सीएम की कुर्सी तक वही आदमी पहुंच पाता है जो क्लीनसेव हो। निश्चित रूप से यह अंधविश्वास है परंतु जयराम ठाकुर ने इसका पालन किया और फटाफट सफाचट करवा लीं। इसके इतर जेपी नड्डा ने अपनी मूंछों का बलिदान नहीं दिया और भाजपा ने अंधविश्वासी विधायक को सीएम चुन लिया। 

आपको बताते हैं प्रदेश में 1952 से लेकर अभी तक पांच सीएम हुए हैं जो क्लीन शेव रहे और मूछ नहीं रखते थे। अगर प्रदेश के पहले सीएम और हिमाचल निर्माता डा. यशवंत सिंह परमार की बात करें तो वह भी क्लीन शेव रहते थे और मूछें नहीं रखते थे। उसके बाद प्रदेश में दो बार सीएम ठाकुर रामलाल की भी मूंछें नहीं थी। उनके बाद जनता पार्टी के राज और बाद में भाजपा राज में शांताकुमार की भी की भी मूंछें नहीं थी वह अभी भी क्लीन शेव ही रहते हैं। प्रदेश में बार बार सीएम रह चुके वीरभद्र सिंह भी मूंछें नहीं रखते हैं। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week