यह महिला IPS पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी से मुकाबला करेगी | NATIONAL NEWS

Friday, December 29, 2017

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में BJP की हालत देखकर अमित शाह काफी निराश हैं परंतु अब उम्मीद की एक किरण नजर आ रही है। पश्चिम बंगाल की पॉवरफुल महिला आईपीएस BHARTI GHOSH ने इस्तीफा दे दिया है। भारती को ममता का खास अफसर माना जाता था परंतु बताया जा रहा है कि वो ममता बनर्जी से काफी नाराज हैं। चर्चा तो यह भी है कि भाजपा भारती को सामने रखकर ममता पर हमला करेगी। कहा यह भी जा रहा है कि मुकुल रॉय भी भारती को सपोर्ट करेगा। कुल मिलाकर यदि समीकरण सही बैठे तो बंगाल में इस बार 2 शे​रनियों को मुकाबला देखने को मिलेगा। 

कोलकाता से आ रही खबर के अनुसार आईपीएस भारती घोष ने अपना इस्तीफा DGP सुरजीत कर पुरकायस्थ को भेज दिया है। तबादले के आदेश मिलने के 72 घंटे के अंदर इन्होंने इस्तीफा देने का फैसला ले लिया। कथित तौर पर झाड़ग्राम में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सभा के दौरान भारती घोष द्वारा उन्हें जंगलमहल की मां कहा था। भारती के इस फैसले के बाद राजनीतिक हलके में उनके भाजपा में शामिल होने की चर्चाएं हो रही हैं। बताते चलें कि 25 दिसंबर को पश्चिम बंगाल के पश्चिम मिदनापुर की एसपी भारती घोष का तबादला कर बैरकपुर कमिश्नरेट में स्टेट आर्म्ड पुलिस, थर्ड बटालियन का कमांडिंग ऑफिसर बनाया गया था।

सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जब राज्यसभा सांसद मानस भुइंया से बीजेपी के वोट बढ़ने की वजह पूछी, तो उन्होंने इसके लिए भारती घोष को जिम्मेदार बताया था। मानस ने मुख्यमंत्री से यह भी कहा भारती घोष उनकी नहीं बल्कि मुकुल रॉय की करीबी हैं। माना जा रहा है कि इसके बाद उनके तबादले का आदेश जारी हुआ था। गौरतलब है कि पार्क स्ट्रीट बहुचर्चित रेप कांड के बाद आईपीएस दमयंती सेन का सजा के तौर पर बैरकपुर में ही तबादला हुआ था।

कौन हैं भारती घोष
भारती घोष ने HARVARD UNIVERSITY से MANAGEMENT विषय में GRADUATION किया है। पश्चिम बंगाल पुलिस में शामिल होने के पहले वह KOLKATA MANAGEMENT INSTITUTE में TEACHER थीं। सीआईडी वुमेन सेल में भी उन्होंने काम किया है। कसोवो और बोस्निया में संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन में भारती ने काम किया है। साल 2011 के मध्य में वह मिशन से राज्य लौटीं। 

उस वक्त मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में राज्य में तृणमूल कांग्रेस की सरकार थी। कुछ समय के बाद ही भारती घोष की पोस्टिंग झाड़ग्राम व पश्चिम मेदिनीपुर मेें पुलिस अधीक्षक के तौर पर हुई। भारती को छह बार यूएन मेडल मिल चुका है। साल 2014 में कमेंडेबल सर्विसेज के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी उन्हें पुरस्कृत किया था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week