MP POLICE के सामने जलती रहीं दुकानें और वाहन, उपद्रवी तलवारें लहराते रहे

Monday, November 6, 2017

इंदौर। शाजापुर के सलसलाई में उपद्रव हो गया। पुलिस ने कार्रवाई की लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। पुलिस की मौजूदगी में उपद्रवी तलवारें लहराते रहे। दुकानों, वाहनों में आग लगाई गई। करीब 2 घंटे तक उपद्रव चलता रहा। इसके बाद पुलिस ने आंसूगैस के गोले दागे और लाठीचार्ज किया। इतने समय में एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो चुके थे। 20 से ज्यादा लोगों को चोटें आईं हैं। पुलिस ने मौके का वीडियो बना लिया था जिसके आधार पर 50 से ज्यादा लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। घटना के बाद गलियों में हर जगह खून के छींटे और सड़क पर कटी अंगुली मिली। डर के मारे लोगों ने घरों के दरवाजे बंद कर लिए थे। पुलिस बल के पहुंचने के बाद भी उपद्रवियों ने जमकर उत्पाद मचाया।

शाजापुर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक सुरेंद्र पिता माधव अत्रे निवासी ग्वालियर की 7 बीघा जमीन को लेकर प्रकाश मेवाड़ा और फारुक खां के बीच विवाद चल रहा था। प्रकाश की मानें तो अत्रे ने उक्त जमीन उसके पिता रामचरण पटेल के नाम कर दी है। इस जमीन पर फारुक ने खरीदने का हवाला देकर काॅलोनी काटना शुरू कर दी। इसी को लेकर कहासुनी हुई थी। रविवार को प्रकाश मेवाड़ा अपनी दुकान में बैठा था, तभी फारुक पिता हाकिम खां 8-10 लोगों के साथ पहुंचा और प्रकाश पर हमला कर दिया। बीच-बचाव करने आए नारायण और बद्रीलाल भी घायल हो गए।

पत्थर, मिर्च पाउडर और नंगी तलवार लेकर हमला किया
एक पक्ष के तीन लोगों के घायल होने की खबर फैलते ही विवाद तनाव में बदल गया। करीब 2 घंटे तक दोनों समुदाय के लोग एक-दूसरे पर पत्थर, मिर्च पावडर, गर्म पानी फेंकते रहे और धारदार हथियारों से हमला करते रहे। विवाद में 20 से ज्यादा लोग घायल हो गए, जिन्हें सारंगपुर, शुजालपुर और शाजापुर भेजा गया। 4 गंभीर घायलों को इंदौर रैफर किया गया है। हालांकि पुलिस के मुताबिक 12 लोगों को चोटें आई हैं।

आंसू गैस के गोले दाग भीड़ को काबू किया
स्थिति को कंट्रोल करने के लिए जिला मुख्यालय से एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान पहुंचे। एसपी के पहुंचने के बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागकर भीड़ को हटाया। कुछ देर मामला शांत होने के बाद फिर मदानो जोड़ के समीप कुछ उपद्रवियों ने दो बाइक में आग लगा दी। तनाव के बाद उपजे हालात में पुलिस ने वीडियो रिकॉर्डिंग के माध्यम से आरोपियों की पहचान कर दबोचना शुरू कर दिया। 50 से ज्यादा लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया।

ट्रैक्टर, जीप व बाइकें जलाईं
प्रकाश मेवाड़ा के घायल होने की सूचना के बाद ग्राम में एक पक्ष ने जमकर तोड़फोड़ शुरू कर दी। इसमें 3 दुकानों सहित करीब 7 वाहनों में आग लगा दी गई। डिप्टी कलेक्टर कलावती ब्यारे ने अपने दल के साथ पहुंचकर नुकसान की रिपोर्ट तैयार की। रिपोर्ट के मुताबिक 3 दुकानों में 1 लाख 50 हजार रुपए का नुकसान होना बताया है। वाहनों की कीमत इसमें नहीं जोड़ी है। जलाए गए वाहनों में दो ट्रैक्टर, एक जीप, चार बाइक है।

ये हुए घायल 
प्रकाश मेवाड़ा, बद्री मेवाड़ा, दिलीप, आनंद, नारायणसिंह, रमेशचंद्र, दिनेश कुमार, धर्मेंद्र सिंह, मुकेश पुरी, बाबू मेवाड़ा, फारुख खां, अमीन सहित 20 से ज्यादा लोगों को चोट आई है। प्रकाश, बद्रीलाल, दिलीप कुमार और नारायण को गंभीर होने पर इंदौर रैफर कर दिया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...
 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah