सीएम शिवराज सिंह ने मिले संविदा कर्मचारी, मिला आवश्वासन | EMPLOYEE NEWS

Wednesday, November 22, 2017

भोपाल। लगातार गांधीवादी तरीके से चरणबद्ध आंदोलन कर रहे मप्र के संविदा कर्मचारियों का प्रतिनिधि मण्डल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिला। प्रतिनिधि मण्डल एवं मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बताया कि संविदा कर्मचारी विगत पन्द्रह से बीस वर्षो से संविदा पर कार्यरत हैं जो कि नियमित कर्मचारियों के समान कार्य कर रहे हैं, प्रतिवर्ष संविदा बढ़ाने के नाम पर संविदा कर्मचारियों का आर्थिक, मानसिक शोषण किया जाता है। अनेक विभागों से संविदा कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं। 

संविदा कर्मचारियों को नियमित किए जाने के सबंध में बतलाया कि वर्ष 2013 में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा संविदा कर्मचारियों को नियमित किए जाने के लिए नीति का मसौदा तैयार किया था उस मसौदे को मंत्रि परिषद अनुमोदित कर दे तो सभी विभागों, परियोजनाओं और निगम मण्डलों में कार्यरत संविदा कर्मचारियों का नियमितीकरण शीध्र ही हो जायेगा। महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने मुख्यमंत्री को यह भी बतलाया कि संविदा कर्मचारियों को नियमित करने पर शासन पर कोई वित्तीय भार भी नहीं आयेगा क्योंकि सभी विभागों में लाखों नियमित पद रिक्त हैं उन पदों पर संविदा कर्मचारियों का संवलियन कर दिया जाए तथा अधिकांश संविदा कर्मचारियों की औसत आयु 45 से 50 के बीच हो गई है जो परियोजनाओं में कार्य कर रहे हैं उनकी परियोजनाएं आठ दस वर्ष तक चलनी हैं उन परियोजनाओं के बजट से संविदा कर्मचारियों को नियमित होने पर वेतन भुगतान होते रहेगा, इसलिए संविदा कर्मचारियों को नियमित करने पर राज्य शासन के ऊपर कोई वित्तीय भार भी नहीं आयेगा। 

मुख्यमंत्री महोदय को यह भी बतलाया कि स्वास्थ्य विभाग के मलेरिया कर्मचारी, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से बीमाक एकाउन्टेंट, अर्श काउन्सलर, जननी काल सेंटर के कर्मचारियों को, योजना आर्थिक सांख्यिकी विभग के प्रगणकों, डाटा एन्ट्री आपरेटरों को कौशल विकास केन्द्र तथा आईटीआई से प्रशिक्षकों, प्रबंधकों, लेखापालों को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के वाटरशेड से पंचायत सचिव एवं समन्वयकों तकनीकी सहायकों, बीआरजीएफ के कम्पयूटर आपरेटर व इंजीनियरर्स को। महिला बाल विकास विभाग से ईसीसीई समन्वयकों को। कुम्भ मेले में कार्य कर चुके होम गार्ड जवान। सहकारिता से विभाग से कम्प्यूटर आपरेटरों को, विद्युत वितरण कम्पनी के इंजीनियरों व कर्मचारियों को हटा दिया गया है। 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में 11 हजार पद रिक्त हैं उसके बाद भी 3 हजार कर्मचारियों को हटा दिया गया है। डीडी सर्पोट स्टाफ को तो संविदा से आऊट सोर्सिंग पर कर दिया गया है। एनआरएचम में अधिकारी मनमर्जी का काम कर रहे हैं। महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी को यह भी बताया कि सुप्रीम कोर्ट के समान कार्य समान वेतन के आदेश के अनुसार समान कार्य समान वेतन दे दिया गया है। मप्र में भी संविदा कर्मचारियों को नियमित किया जाए, हटाये गये संविदा कर्मचारियों को वापस लिया जाए, समान कार्य समान वेतन दिया जाए। जिन संविदा कर्मचारियों को आऊट सोर्सिंग कर दिया गया है उनको वापस विभाग में लिया जाए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संविदा कर्मचारियों की मांगों पर गम्भीरता पूर्वक चर्चा करते हुए मांगों का शीध्र निराकरण करने का आश्वासन दिया। 

प्रतिनिधि मण्डल में रमेश राठौर,  राहुल जैन, मेघ सिंह, बघेल, अनूप पटेल,  देवेन्द्र उपाध्याय, जी.एस. अहिरवार, चन्द्रेश सक्सेना, नीलेश जैन, प्रशांत तिवारी, ओमेश्वर सूर्यवंशी, सुशील दोराहे,  अमर सिंह जाटव, राहुल शिवहरे, अमित कुल्हार, लोकेन्द्र श्रीवास्तव, दुर्गेश, योगेश ढोगे, अभिलाष भटनागर, नाहिद जहां, रमेश सिंह, उमाशंकर लांजेवार, श्याम गौतम, राजेश साहु, अवधेश दीक्षित, अमिताभ चौबे, विजय ठक्कर, राकेश मिश्रा, पूष्पेन्द्र श्रीवास्तव, राजेश रजक, श्याम पाटीदार , मनराज परमार सुनील यादव, मनीष चौधरी मनोज वंशीवाल, महेश शेंडे, योगेश शर्मा, निधि शर्मा, अजय शर्मा ,अर्चना पटेल, मंगलेश दुबे, हरीओम गोस्वामी, गोपाल दुबे, जगराज प्रजापति, राजीव सेन, सतीश निगम, अवधेश दीक्षित, राजेश कानूनगों, भूपेन्द्र सूर्यवंशी, उमेश शर्मा, विनित दुबे, योगेन्द्र परमार, अरविन्द सिंह, देवेन्द्र राठौर, देवेन्द्र सक्सेना, राजेश शर्मा, शैलेन्द्र पटेल, मनोज दुबे, राजेश कानुनगों, नितिन शर्मा ,नीरज अमजरा, अग्निवेश आर्य, विनिता शर्मा, मनोज राय, विजय देवरिया, प्रकाश पगारे, लखन मेवाड़ा,, योगेन्द्र परमार , प्रवीण श्रीवास, के.के. उपाध्याय, पी सतपुते, जितेन्द्र शर्मा, अल्पना विलियम्स, हेमन्त सूर्यवंशी,  कमलेश बरखे, पंकज शर्मा , आशुतोष शर्मा, जतिन , सतीश सोनी, विनय जायसवाल, रविन्द्र श्रीवास्तव, नीरज व्यास , प्रीतम सिंह मेवाड़ा , संजय पालीवाल, शैलेष पाण्डे , विनोद शाह, अहमद खान, विजय पाण्डे, लीलाधर अहिरवार, अशोक चौहान, राशीद खान, माखन सिंह अहिरवार, सचिन, राजकुमार साकल्ले, डैनी गौड़ , राम यादव, निखिल जैन, मनोज नाग, मनीष चौधरी, मनीष जैन, नीलम तिवारी आदि थे । महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने कहा है कि जब तक सरकार नियमितीकरण के आदेश जारी नहीं  कर देती है तब गांधी वादी तरीके से चरणबद्व आंदोलन चलता रहेगा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah