मोदी ने इटली से हाथ मिलाया, कहा विकास के लिए साथ जरूरी है

Tuesday, October 31, 2017

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके इटली के पीएम पाओलो जेंटिलोनी ने सोमवार को आतंकवाद और साइबर अपराधों जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर बातचीत की रेलवे सेक्टर की सुरक्षा, ऊर्जा व्यापार में सहयोग बढ़ाने समेत कुछ मुद्दों पर छह समझौते किए। दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय राजनीतिक और आर्थिक संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के तरीकों पर भी चर्चा की। मोदी ने कहा कि उन्होंने जेंटिलोनी के साथ आतंकवाद और साइबर अपराधों की चुनौतियों समेत व्यापक मुद्दों पर चर्चा की और इनसे निपटने के लिए सहयोग बढ़ाने पर दोनों सहमत हुए। भारत-इटली व्यापार संबंधों के विस्तार की अपार संभावनाएं हैं। मोदी-जेंटिलोनी की मुलाकात के बाद दोनों पक्षों ने रेलवे सेक्टर की सुरक्षा, ऊर्जा और आपसी निवेश बढ़ाने समेत विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग गहन करने के लिए 6 समझौतों पर दस्तखत किए। इटली यूरोपी संघ में भारत का 5वां सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है। 

इटली के साथ रेल सेफ्टी सहित छह क्षेत्रों में हुआ करार 
चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह पाकिस्तान में मौजूद जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख और पठानकोट आतंकी हमले के मास्टरमाइंड मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी के तौर पर सूचीबद्ध करने के अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन के प्रयास को बाधित करेगा। चीन ने फिर दोहराया है कि संरा सुरक्षा परिषद के सदस्यों में इसे लेकर कोई सर्वसम्मति नहीं है। अजहर को वैश्विक आतंकी के तौर पर सूचीबद्ध करने के प्रस्ताव पर अपनी तकनीकी रोक को चीन ने अगस्त में तीन महीने के लिए बढ़ा दिया था। इससे पहले उसने इस वर्ष फरवरी में संयुक्त राष्ट्र में इस आशय के प्रस्ताव पर रोक लगाई थी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने बताया, हमने इस मंच से अपना रख कई बार स्पष्ट किया है। सुरक्षा परिषद के संबद्ध प्रस्तावों में नियम 1267 समिति के आदेश के अनुरूप एकदम स्पष्ट हैं। 

इटली के प्रधानमंत्री ने दोनों देशों के संबंधों को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि भारत की संस्कृति बहुत रिच है। अर्थव्यवस्था के मामले में भारत में बहुत सारी संभावनाएं हैं। हम भारत के साथ मिलकर आर्थिक संकटों से निपट सकते हैं। दोनों नेताओं ने शिष्टमंडल स्तर की वार्ता में हिस्सा लिया और 12 भारतीय और 19 इतालवी बिजनेस लीडर्स के साथ भी आर्थिक निवेश सहयोग को मजबूत बनाने पर चर्चा की। जेंटिलोनी ने अपनी यात्रा को दोनों देशों के बीच के संबंधों को मजबूत बनाने के लिए एक अवसर बताया। उनका राष्ट्रपति भवन प्रांगण में औपचारिक स्वागत किया गया। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week