भोपाल तनाव: शहर को आग लगाने की कोशिश नाकाम, पुलिस ने 4 घंटे में काबू किए हालात

Advertisement

भोपाल तनाव: शहर को आग लगाने की कोशिश नाकाम, पुलिस ने 4 घंटे में काबू किए हालात

भोपाल। एक बार फिर भोपाल पुलिस और राजधानी के शांतिप्रय हिंदू-मुस्लिम नागरिकों ने भोपाल को एक बड़े संकट में फंसने से बचा लिया। षडयंत्रकारियों ने पूरी कोशिश की थी कि बुधवार की सुबह दहशत और आक्रोश के बीच हो परंतु ऐसा कुछ नहीं हुआ। भोपाल पुलिस ने महज 4 घंटे में भोपाल को सुलगाने की साजिश को नाकाम कर दिया। सोशल मीडिया पर भी कुछ उपद्रवियों ने दंगा भड़काने की कोशिश की परंतु यह पहली बार हुआ कि उसी सोशल मीडिया पर शांतिप्रिय हिंदू-मुस्लिम नागरिक भी ​सक्रिय हुए और अफवाहों का खंडन किया। अब भोपाल में बुधवार की सुबह खुशनुमा है और उम्मीद की जा रही है कि मंगलवार रात जैसे हालात दोबारा नहीं बनेंगे। 

क्या है मामला
हमीदिया अस्पताल में खुदाई के दौरान एक धर्मस्थल के चिन्ह मिले हैं। जमीन सरकारी है अत: इसकी सारी प्रक्रिया भी सरकारी ही होनी है परंतु कुछ षडयंत्रकारियों ने इस मामले को साम्प्रदायिक संघर्ष में बदलने की साजिश रची। एक सामाजिक संगठन ने अपील जारी कर अपने समाज के लोगों का आह्वान किया। अपील पर कुछ 2 दर्जन उपद्रवी एकत्रित भी हुए। इस साजिश के विरोध में दूसरा पक्ष भी मैदान में आ गया। इसी बीच किसी ने पथराव शुरू कर दिया। दोनों पक्षों के बीच पथराव शुरू हो गया। मौके पर पहुंची डायल 100 को तोड़ दिया गया। कुछ वाहनों में आग लगा दी गई। इसी के साथ वाट्सएप पर भड़काऊ संदेशों का प्रसारण शुरू हो गया। शुरूआत का करीब 1 घंटे अनियंत्रित रहा परंतु उपद्रवियों के भड़काऊ संदशों का आम नागरिकों पर कोई असर नहीं पड़ा। लोग मौके पर मौजूद थे परंतु उग्र प्रदर्शन नहीं कर रहे थे। 

शुरूआती 1 घंटा बीतने के बाद पुलिस ने इलाके को अपने कब्जे में ले लिया। रेपिड एक्शन फोर्स ने मोर्चा संभाला और आंसूगैस के गोले छोड़े गए। इस दौरान भीड़ को हटाने के लिए लाठीचार्ज भी किया गया। जिस तेजी से पुलिस सक्रिय हुई और आम नागरिकों ने उपद्रवियों का साथ नहीं दिया। उपद्रवी अकेले पड़ गए एवं छिपने के लिए यहां वहां भागे। पुलिस ने उनमें से दर्जन भर उपद्रवी दबोच लिए। महज 4 घंटे के भीतर हालात सामान्य हो गए। 

मुख्यमंत्री की अपील
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अपील की है कि, भोपालवासी किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें। दोनों पक्षों की समझदारी से मामले को सुलझा लिया गया है।  

भोपाल क्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक रमन सिंह सिकरवार ने बताया, "अब हालात सामान्य है। पुलिसबल की तैनाती की गई है। 12 उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है जबकि अन्य की तलाश जारी है। पुलिस की कार्रवाई में किसी को नुकसान नहीं पहुंचा है।