Loading...

अटेर उपचुनाव: 2 बटन दबाए, वोट भाजपा को ही गया, निर्वाचन अधिकारी को हटाने की मांग

भोपाल। ईवीएम में गड़बड़ी ​की शिकायत को एक बार फिर बल मिल गया। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह को हटाने की मांग की है। दरअसल, यहां ईवीएम और वीवीपीएटी के डेमो के दौरान 2 अलग अलग बटन दबाने पर भी वोट भाजपा को ही डिस्प्ले हुआ। इसके बाद माहौल गर्मा गया। यह डेमो मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह की मौजूदगी में कराया जा रहा था। अजय सिंह का कहना है कि सलीना के रहते निष्पक्ष चुनाव की उम्मीद नहीं की जा सकती। 

बीते दिन अटेर विधानसभा उपचुनाव के चलते ईवीएम और वीवीपीएटी के डेमो मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह की निगरानी में किया गया तो दो अलग अलग बटन दबाने पर भी एक ही भाजपा का चुनाव चिन्ह कमल ही डिस्प्ले हुआ। इस बात को दबाने के लिए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने तो पत्रकारों को धमकी दे डाली। उन्होंने कहा कि इस तरह की खबर लीक की गई तो जेल भेज दिया जाएगा। 

अजय सिंह ने अपने पत्र में कहा है कि आगामी अटेर और बांधवगढ़ में चुनाव में बैलेट पत्र से मतदान कराए जाए, जिससे कोई गड़बड़ी ना आए। अगर बैलेट पेपर से मतदान नही कराएं जा सकते तो प्रमाणित ईवीएम मशीन लगाई जाए, जिससे कोई गड़बड़ी ना हो और ना ही धांधलीबाजी हो। 

प्रदेश में 9 अप्रैल को होने जा रहे अटेर और बांधवगढ़ उप चुनाव में चुनाव आयोग वोटिंग सिस्टम में पारदर्शिता के लिए नया प्रयोग करने जा रहा है। इसके लिए ईवीएम मशीन के साथ वोटर वेरिफायबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) का उपयोग किया जाएगा। वीवीपीएटी की टेस्टिंग के दौरान जब मशीन में बटन दवाई गई तो कमल की पर्ची निकली। जिसके बाद सब हैरान हो गए। पत्रकारों को चुप कराने और खबर लीक न करने के लिए दवाब बनाया गया और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह ने पत्रकारों को यह कहते हुए भी धमकाया कि अगर खबर लीक की तो जेल में डाल दूंगी|