अटेर उपचुनाव: घबराए SHIVRAJ SINGH ने गड़े मुर्दे उखाड़े

Advertisement

अटेर उपचुनाव: घबराए SHIVRAJ SINGH ने गड़े मुर्दे उखाड़े

भोपाल। भिंड जिले की अटेर विधानसभा में उपचुनाव के लिए शिवराज सिंह ने अरविंद भदौरिया को बतौर प्रत्याशी उतार तो दिया लेकिन अब उन्हे जिताने में पसीने आ रहे हैं। 2017 में हुए लगभग हर चुनाव में अपने विकास और वादों के दम पर प्रत्याशी को चुनाव जिता ले जाने वाले शिवराज सिंह अटेर में बौखलाहट भरे बयान भी दे रहे हैं। उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमला करने के लिए आजादी से पहले सिंधिया राजाओं द्वारा अंग्रेजों से की गई मैत्री का डर दिखाया। शिवराज ने कहा कि अंग्रेजों के साथ मिलकर सिंधिया ने लोगों पर बहुत जुल्म ढहायें हैं। उन्होंने कहा कि आजादी से पहले अंग्रेजों के साथ सिन्धया ने भिण्ड की जनता पर जुल्म ढहाये हैं। भिण्ड के लोग देशभक्त हैं है और यहाँ सैनिक स्कूल बनाया जाएगा। 

हालांकि ग्वालियर संभाग में जयभान सिंह पवैया से लेकर हर सिंधिया विरोधी ऐसे ही बयान दिया करता है परंतु शिवराज सिंह के मुंह से निकलीं इन पंक्तियों ने एक नई सुगबुगाहट को हवा दे दी है। उन्होंने ज्योतिरादित्य का विरोध करने के लिए 'सिंधिया' को निशाने पर लिया। लोगों ने तत्काल सोशल मीडिया पर सवाल पूछ डाले कि भाजपा की संस्थापक राजमाता विजयाराजे किस परिवार से थीं। यदि सिंधिया ने जुल्म ढाए थे तो उन्हे भाजपा में सम्मान क्यों दिया जाता है। 

बता दें कि राजमाता विजयाराजे सिंधिया की राजनैतिक उत्तराधिकारी एवं बेटी यशोधर राजे सिंधिया शिवराज कैबिनेट में मंत्री है और वर्तमान में राजस्थान की मुख्यमंत्री भाजपा की वसुंधरा राजे भी इसी सिंधिया परिवार से हैं जिसे शिवराज सिंह ने जुल्मी और अंग्रेजों का मित्र करार दिया है। यहां एक तकनीकी सवाल यह भी है कि सिंधिया ने भिंड के लोगों पर कब और कौन से जुल्म ढाए हैं, इतिहास में वो जुल्म कहां दर्ज हैं। शिवराज सिंह ने ऐसा कुछ भी बयां नहीं किया।