मध्य प्रदेश बिरसा मुण्डा स्व-रोजगार योजना, मुख्यमंत्री अनुसूचित जनजाति विशेष वित्त पोषित योजना

मध्य प्रदेश सरकार की कैबिनेट की बैठक 06 सितम्बर 2022 में भगवान बिरसा मुण्डा स्व-रोजगार योजना को स्वीकृति। योजना के तहत हितग्राहियों को विनिर्माण गतिविधियों एवं स्वयं के व्यवसाय के लिए ₹1 लाख से ₹25 लाख तक का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। 

मध्यप्रदेश में अनुसूचित जनजाति वर्ग के युवा स्व-रोजगार से जुड़ेंगे 
■ विनिर्माण गतिविधियों के लिए ₹1 लाख से 50 लाख तक का मिलेगा ऋण
■ व्यवसाय गतिविधियों के लिए ₹1 लाख से 25 लाख तक की परियोजनाओं के लिए मिल सकेगा लोन
■ 5% प्रतिवर्ष की दर से दिया जाएगा ब्याज अनुदान

मुख्यमंत्री अनुसूचित जनजाति विशेष वित्त पोषित योजना

अनुसूचित जनजाति वर्ग के आर्थिक सशक्तिकरण के लिए मुख्यमंत्री अनुसूचित जनजाति विशेष वित्त पोषित योजना को मंजूरी
कृषि, पशुपालन, मत्स्य पालन, उद्यानिकी ऊर्जा, कौशल विकास एवं रोजगार आदि के लिए 2 करोड़ तक का ऋण मिल सकेगा