सिविल सेवा अधिकारी रोबोट ने सुसाइड कर लिया, दुनिया की पहली घटना - Tech News

दुनिया भर में साउथ कोरिया अब एक ऐसा देश बन गया है जहां पहली बार इंसानों जैसा दिखाई देने वाले रोबोट में सिविल सेवा अधिकारी का कार्ड लगाया गया था। यह दुनिया का पहला रोबोट है जिसे गुमी सिटी काउंसिल में सरकारी नौकरी मिली थी। वह सुबह 9:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक काम करता था। और यही दुनिया का पहला रोबोट है जिसने आत्महत्या कर ली। अब इस घटना की हाई लेवल इन्वेस्टिगेशन चल रही है। वैज्ञानिक जानना चाहते हैं कि, क्या रोबोट भी तनाव में आ सकता है, क्या वह किसी की प्रताड़ना से तंग आकर अथवा अन्य किसी भी प्रकार के तनाव के चलते आत्महत्या कर सकता है।

सुसाइड करने के लिए रोबोट सीढ़ियों से नीचे खुदा

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, रोबोट सुपरवाइजर गुमी सिटी काउंसिल का एक मेहनती कर्मचारी था जो हर दिन सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक काम करता था। अधिकारियों के हवाले से रिपोर्ट कहती है कि रोबोट ने सीढ़ियों से नीचे की तरफ जंप लगा दी। वह कई टुकड़ों में बिखर गया। उसके टुकड़े काउंसिल बिल्डिंग की पहली और दूसरी मंजिल के बीच में सीढियों के नीचे बिखरे हुए मिले।

आत्महत्या करने से पहले काफी देर तक चक्कर लगाता रहा

कहा जा रहा है कि काम के बोझ के कारण रोबोट तनाव में आ गया था। सुसाइड पॉइंट के आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि गिरने से पहले वह काफी देर तक एक ही जगह पर चक्कर लगाता रहा। फिर वह नीचे कूद गया। यह क्यों और कैसे गिरा इसकी जांच की जा रही है। इन टुकड़ों को स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ने इकट्ठा कर लिया है ताकि आगे की जांच की जा सके।

रोबोट सुपरवाइजर कौन था जिसने सुसाइड कर लिया

गुमी सिटी काउंसिल में ‘रोबोट पर्यवेक्षक’ यानी रोबोट सुपरवाइजर की नियुक्ति अगस्त 2023 में की गई थी। अधिकारी के तौर पर नियुक्त होने वाला यह पहला रोबोट था। इसे कैलिफॉर्निया के रोबोट स्टार्टअप, बियर रोबोटिक्स ने बनाया था। इसके भीतर एक सिविल सेवा अधिकारी का कार्ड भी लगा था। लोगों को रोबोट कर्मचारी बहुत पसंद था क्योंकि यह स्थानीय निवासियों तक कई तरह के सरकारी कागजात पहुंचाता था और लोगों को जरूरी जानकारियां भी देता था।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !