MP NEWS - रेलवे ट्रैक के किनारे राजू सेठ के बम पड़े मिले, पुलिस ने बिना जांच के नष्ट कर दिए

मध्य प्रदेश के हरदा में साल 2024 का सबसे दिल दहला देने वाले हादसे के जिम्मेदार राजू सेठ को गिरफ्तार तो कर लिया गया है परंतु प्रशासनिक संरक्षण लगातार जारी है। मगरधा रोड स्थित रेलवे ट्रैक के किनारे 75 बोरी सुतली बम पड़े मिले। सिविल लाइन थाना पुलिस ने इतना गंभीर मामला होने के बावजूद कोई जांच नहीं की बल्कि हजारों सुतली बम नष्ट कर दिए। राजू सेठ के कारखाने में ब्लास्ट हुआ। पूरे हरदा में राजू सेठ के सुतली बम मिल रहे हैं लेकिन रेलवे ट्रैक पर मिले हजारों सुतली बम को पुलिस ने किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा फेंका गया बताया है।

रेलवे ट्रैक के किनारे विस्फोटक सामग्री, राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला

रेल यात्रा के दौरान माचिस ले जाना भी प्रतिबंधित होता है, क्योंकि 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से दौड़ रही ट्रेन को आग का गोला बनाने के लिए एक चिंगारी काफी है। ऐसी स्थिति में रेलवे ट्रैक पर हजारों की संख्या में सुतली बम का मिलना राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला है। इसकी फोरेंसिक जांच की जानी चाहिए थी। पता लगाया जाना चाहिए था कि यह सुतली बम किसके हैं। कौन यहां पर फेंक गया है और क्या वह किसी बड़े रेल हादसे की प्लानिंग कर रहा था। इतना गंभीर मामला होने के बावजूद हरदा पुलिस ने कोई जांच नहीं की बल्कि रेलवे ट्रैक पर हजारों की संख्या में मिले सुतली बम जप्त करके नष्ट कर दिए। यानी भविष्य में भी कोई जांच नहीं हो पाएगी। 

रेलवे खंबा न. 667/2.4 के पास बमों की बोरियां बरामद हुई हैं। ट्रैकमेन राहुल नागले ने बताया कि वे डाउन साइड से आ रहे थे, इसी बीच उन्होंने ट्रैक के पास बोरियां पड़ी हुई देखी, जिसमें सुतली बम थे। इसकी सूचना उन्होंने पुलिस को दी। सिविल लाइन थाना पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और बम की बोरियों को जब्त किया है। एएसआई सोहन सिंह राजपूत ने बताया कि मामला दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है।

राजू सेठ का कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता

हरदा में हुए हादसे में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। आज 8 साल के मासूम बच्चे की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। हादसे के बाद मुख्यमंत्री ने कहा था कि ऐसी कार्रवाई करूंगा कि लोग याद रखेंगे लेकिन अब तक कोई कड़ी कार्रवाई नहीं हुई है। कारखाने के मालिक राजेश अग्रवाल को गिरफ्तार तो कर लिया गया है परंतु उसके अवैध कारोबार के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पत्रकारों से बातचीत के दौरान हरदा के पीड़ित परिवारों ने दावा किया था कि, राजू सेठ का कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। यह दावा सही प्रतीत होता दिखाई दे रहा है।

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !