MP NEWS - भिंड के चार शिक्षकों के खिलाफ FIR, सरकारी नौकरी के लिए कूटरचित मार्कशीट लगाई

मध्य प्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा भिंड जिले में शिक्षक के पद पर प्रस्तुत किए गए चार कर्मचारियों के खिलाफ न्यायालय के आदेश पर मामला दर्ज किया गया है। चारों शिक्षक मौ ब्लॉक में पदस्थ है। चारों शिक्षकों पर आरोप है कि सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए DElEd की कूटरचित मार्कशीट लगाई थी। सूचना के अधिकार के तहत इसका खुलासा हुआ। 

कूटरचित मार्कशीट पर नौकरी करने वाले शिक्षकों के नाम

मौ थाना टीआई संतोष यादव के मुताबिक सुरैयापुरा मुरार के रहने वाले पंजाब सिंह पुत्र हरिकंठ गुर्जर ने न्यायालय में एक परिवाद पेश किया था। जिसमें भिंड के मोरखी के शासकीय मिडिल स्कूल में पदस्थ संजय सिंह पलिया पुत्र मोहनलाल पलिया निवासी नदीपार टाल मुरार, शासकीय मिडिल स्कूल सिनोर में पदस्थ ब्रजेश पुत्र अखलेश शर्मा निवासी खैरोली, मेहगांव, शासकीय मिडिल स्कूल में पदस्थ बृजमोहन शर्मा पुत्र भरोसी शर्मा निवासी छैकुरी, गोहद और छैकुंरी के सरकारी मिडिकल स्कूल में पदस्थ शिक्षक भूपेंद्र मिश्रा पुत्र आदित्यनारायण मिश्रा निवासी सेंवढ़ा जिला दतिया द्वारा कूटरचित अंकसूची तैयार शिक्षक की नौकरी प्राप्त करना बताया गया था।

सूचना का अधिकार अधिनियम की मदद से खुलासा हुआ

न्यायालय ने इस मामले में सुनवाई की। परिवाद दौरान पंजाब सिंह गुर्जर ने न्यायालय में पेश किए गए सबूतों के आधार पर बताया था कि उक्त शिक्षकों में संजय पालिया ने डीएलएड की अंकसूची पेश की है। संजय ने वर्ष 2008 में जयभारत कॉलेज ऑफ एज्युकेशन द्वारा पास होना दर्शाया था। इसी तरह से ब्रजेश शर्मा ने राजीव गांधी बुनियादी प्रशिक्षण संस्था ग्वालियर से वर्ष 2007 में पास होना दर्शाते हुए डीएलएड की अंकसूची जमा कराई थी। वहीं बृजमोहन शर्मा द्वारा डीएलएड वर्ष 2010 की अंकसूची पेश की थी। बृजमोहन ने नौकरी के दस्तावेजों में अंकसूची डीएल आईईटी की जमा कराई थी। इसी तरह भूपेंद्र मिश्रा की अंकसूची 2007 की शासकीय गोरखी स्कूल जिला ग्वालियर की होना दर्शाई थी।

जब इन चारों शिक्षकों की अंकसूचियां पंजाब सिंह गुर्जर द्वारा सूचना अधिकार से निकलवाई तो वे सत्यापित नहीं हुई। जिन संस्थानों की अंकसूची लगाई गई थी वे फर्जी निकली। इस पर न्यायालय ने पेश किए गए साक्ष्यों के आधार पर चारों शिक्षिकों के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में एफआईआर दर्ज कराए जाने का आदेश दिया। मौ थाना पुलिस ने चारों आरोपियों पर एफआईआर दर्ज कर ली। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !