ONLINE GAMING - बैंक कर्मचारी खाता धारकों की 53 करोड़ की FD खा गया

पंजाब एंड सिंध बैंक, दिल्ली यूनिवर्सिटी नॉर्थ केंपस, श्री गुरु तेग बहादुर खालसा कॉलेज ब्रांच के कर्मचारी वेदांशु शेखर मिश्रा की संपत्ति जप्त कर ली गई है। कर्मचारियों को पहले ही सस्पेंड किया जा चुका है। CBI द्वारा वेदांशु के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। परिवर्तन निदेशालय ने अपनी जांच में पाया कि कर्मचारियों ने बैंक के खाता धारकों के फिक्स डिपाजिट, अनधिकृत रूप से तोड़े और उसे रकम का ऑनलाइन गेम खेलने में उपयोग किया। यह रकम लगभग 53 करोड रुपए है।

प्रवर्तन निदेशालय ने अपनी जांच में पाया बैंक कर्मचारी वेदांशु शेखर मिश्रा ने अपने पद का दुरुपयोग किया। उसने सन 2021 और 2022 में खाताधारकों के डिपॉजिट को तोड़कर, उनके धन का निजी उपयोग किया। एजेंसी ने दावा किया, आरोपी ने बैंक के साथ उसके खाताधारकों के साथ धोखाधड़ी और जालसाजी की तथा 52 करोड़ 99 लाख 53 हजार 698 रुपये की सार्वजनिक धन की हेराफेरी की। उसने अपराध के माध्यम से मिले धन का इस्तेमाल विभिन्न ऑनलाइन गेमिंग वेबसाइट पर मोनोपोली, पोकर, तीन पत्ती आदि जैसे खेल खेलने के लिए किया। 

एजेंसी ने कहा कि कथित अपराध की आय मुख्य रूप से आरोपी (मिश्रा) द्वारा विभिन्न व्यावसायिक संस्थाओं के विभिन्न चालू खातों के माध्यम से ऑनलाइन गेमिंग कंपनियों को हस्तांतरित की गई। परिवर्तन निदेशालय ने फिलहाल उसके पास मौजूद 2.56 करोड रुपए की अचल संपत्ति और बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट जप्त कर लिए हैं। जब की गई संपत्ति का मूल्य, घोटाले की रकम 53 करोड़ का 5% भी नहीं है। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !