मध्य प्रदेश बीज निगम में वैकेंसी, लड़कियों को रात वाला इंटरव्यू देने बुलाया, ऑपरेटर गिरफ्तार - MP NEWS

मध्य प्रदेश में नया साल और नई सरकार में नए तरह के मामले सामने आ रहे हैं। मध्य प्रदेश बीज निगम द्वारा संविदा कर्मचारियों की भर्ती के लिए जीवाजी यूनिवर्सिटी ग्वालियर में केंपस ड्राइव किया गया। इसमें सिलेक्ट हुई लड़कियों के पास मध्य प्रदेश बीज निगम भोपाल के कंप्यूटर ऑपरेटर संजीव तंतुवे का फोन आया। उसने बताया कि फाइनल इंटरव्यू भोपाल में होगा। या इंटरव्यू रात के समय बेडरूम में होगा और सुबह नियुक्ति पत्र मिल जाएगा। इस मामले की शिकायत पुलिस से कर दी गई। पुलिस ने फोन लगाने वाले कंप्यूटर ऑपरेटर को गिरफ्तार कर लिया है। 

रीवा से ग्वालियर एमएससी की पढ़ाई करने आई थी

ग्वालियर पुलिस, क्राइम ब्रांच प्रभारी अमर सिंह सिकरवार ने बताया कि जीवाजी यूनिवर्सिटी की एक छात्रा ने एसएसपी राजेश सिंह चंदेल से इस मामले की शिकायत की थी। निर्देशानुसार मामला दर्ज किया गया। लड़की ने अपनी शिकायत में बताया कि, वह मूल रूप से रीवा की रहने वाली है। उम्र 26 वर्ष एवं ग्वालियर के सिरोल स्थित सनवैली हाउसिंग सोसायटी में किराये से रहती है। जीवाजी यूनिवर्सिटी से एमएससी की पढ़ाई कर रही है। 

इंटरव्यू लेने के लिए भोपाल से पैनल आया था

यूनिवर्सिटी में केंपस ड्राइव आयोजित किया गया था। इसमें मध्य प्रदेश बीज निगम का पैनल भोपाल से आया था। इस पैनल के साथ कंप्यूटर ऑपरेटर संजीव तंतुवे भी आया था। उसी ने सभी कैंडिडेट्स की लिस्ट बनाई थी। भोपाल से आई टीम इंटरव्यू लेकर वापस लौट गई थी। इसके बाद इंटरव्यू में शामिल हुई लड़कियों के पास कंप्यूटर ऑपरेटर संजीव तंतुवे का फोन को लाया। उसने बताया कि फाइनल इंटरव्यू भोपाल में होगा। यह इंटरव्यू रात के समय बेडरूम में होगा। उसने लड़कियों को खुलकर बताया कि इंटरव्यू में क्या-क्या किया जाएगा। यह सुनकर ज्यादातर लड़कियों ने संजीव का नंबर ब्लॉक कर दिया। 

ग्वालियर पुलिस क्राइम ब्रांच भोपाल से कंप्यूटर ऑपरेटर को गिरफ्तार कर लाई

रीवा से ग्वालियर पढ़ने आई लड़की ने नंबर ब्लॉक नहीं किया। उसके पास बार-बार फोन आ रहा था। वह परेशान हो गई और सीधे एसपी श्री राजेश चंदेल से मिली। उनके निर्देश पर मामला क्राइम ब्रांच को दिया गया। क्राइम ब्रांच द्वारा प्राइमरी इन्वेस्टिगेशन के बाद फोन कॉल करने वाले कंप्यूटर ऑपरेटर के खिलाफ अपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया और उसे भोपाल से गिरफ्तार कर लिया गया। 

जांच का प्रमुख बिंदु - पहला मामला था या परंपरा है

अब ग्वालियर पुलिस क्राइम ब्रांच के सामने जांच का प्रमुख बिंदु यह है कि, यह पहला मामला है या फिर मध्य प्रदेश बीज निगम में लड़कियों को नौकरी इसी प्रकार से दी जाती है। यह पता लगाया जाना भी जरूरी है कि, रात के समय बेडरूम के अंदर इंटरव्यू कौन लेता है। यह सब कुछ केवल कंप्यूटर ऑपरेटर कर रहा था या फिर वह केवल लड़कियों को बुलाने का काम कर रहा था। बेडरूम में इंटरव्यू कोई दूसरा अधिकारी लेने वाला था। मामले की जांच में कई चुनौतियां हैं। देखना यह है कि ग्वालियर पुलिस क्राइम ब्रांच पूरे मामले का खुलासा कर पाती है या नहीं। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !