MP BOARD EXAM NEWS - परीक्षा केंद्र के अध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया को बदला

Madhya Pradesh board off Secondary Education, bhopal द्वारा आयोजित कक्षा 10 हाई स्कूल एवं कक्षा 12 हायर सेकेंडरी स्कूल बोर्ड परीक्षाओं में पेपर लीक एवं सामूहिक नकल की घटनाओं पर कंट्रोल करने के लिए परीक्षा केंद्र के अध्यक्षों की नियुक्ति की प्रक्रिया को बदल दिया गया है। सूत्रों ने बताया कि इस बार परीक्षा केंद्र अध्यक्ष की नियुक्ति लॉटरी सिस्टम से होगी। 

हर परीक्षा केंद्र पर कलेक्टर का प्रतिनिधि तैनात होगा

माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्य प्रदेश, भोपाल की ओर से आयोजित 10वीं व 12वीं की परीक्षा 5 फरवरी से प्रारंभ होगी। इस बार केंद्राध्यक्षों व सहायक केंद्राध्यक्षों की नियुक्ति संभाग स्तर पर नहीं, बल्कि जिले स्तर पर की जाएगी। साथ ही हर केंद्र पर कलेक्टर प्रतिनिधि की तैनाती होगी। सभी के नाम और सूची मंडल को 15 जनवरी तक भेजना है। 

पांच स्टूडेंट के बीच में चार पेपर बांटे जाएंगे

इसके अलावा चार सेट में प्रश्नपत्र होगा और इसका वितरण रैंडम पद्धति के अनुसार होगा। इस बार परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए 150 से ज्यादा उड़नदस्ताें की टीम बनेगी। प्रत्येक टीम में तीन से चार सदस्य होंगे। यह टीम मशिमं के अलावा जिला शिक्षा अधिकारी (डीइओ) और स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा बनाए जाएगी। परीक्षा केंद्र से लेकर कक्ष में किसी को भी मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं रहेगी। इनमें केंद्राध्यक्ष, सहायक केंद्राध्यक्ष, शिक्षक सहित परीक्षा कार्य में लगे अन्य कर्मचारी शामिल हैं। साथ ही प्रत्येक विषय के प्रश्नपत्रों के चार सेट तैयार किए गए हैं। ये चारों सेट इस तरह से तैयार किए जाएंगे कि एक विद्यार्थी के आगे-पीछे और अगल-बगल बैठने वाले विद्यार्थियों को अलग-अलग सेट के प्रश्नपत्र मिलेंगे। यानी कुल पांच विद्यार्थियों में से दो विद्यार्थियों के पास एक जैसा पेपर होगा। बाकी सब के पास अलग-अलग पेपर होगा।

पेपर लेने के लिए पुलिस थाने कौन-कौन जाएगा

मंडल के अधिकारियों ने बताया कि पुलिस थाने से लेकर परीक्षा केंद्र तक सख्त निगरानी में प्रश्नपत्र के बंडल लाए जाएंगे। प्रश्नपत्रों का बंडल लाने के लिए कलेक्टर प्रतिनिधि, शिक्षक, केंद्राध्यक्ष सहित पुलिस की टीम शामिल होगी। परीक्षा कक्ष में जो प्रश्नपत्रों के बंडलों के जो लिफाफे पहुंचेंगे। उसमें से प्रत्येक में 10 या 20 प्रश्नपत्र रहेंगे। उस कक्ष में परीक्षार्थियों की संख्या के आधार पर इनका वितरण होगा। इन लिफाफों में प्रश्नपत्र इस तरह रखे जाएंगे, जिससे आसपास के विद्यार्थियों के प्रश्नपत्र मैच न हों, ताकि नकल को रोका जा सके। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !