ABVP नेताओं के समर्थन में मुख्यमंत्री, डकैती वाले मामले की जांच के आदेश - MP NEWS

मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र नेताओं के खिलाफ दर्ज किए गए डकैती के मामले में चारों तरफ पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए जा रहे हैं। आज मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने भी पुलिस की कार्रवाई को गलत मानते हुए मामले की जांच के आदेश दिए हैं। दरअसल, छात्र नेताओं ने समय पर एंबुलेंस नहीं आने के कारण, हार्ट अटैक से पीड़ित कुलपति की जान बचाने के लिए एक न्यायाधीश की CAR, ड्राइवर से छीन कर दर्द से तड़प रहे कुलपति को अस्पताल पहुंचाया था। पुलिस ने इस मामले में छात्र नेताओं के खिलाफ डकैती की धाराओं के तहत FIR दर्ज कर ली है। 

यह सरकारी वाहन का अनाधिकृत उपयोग का मामला है

आज मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव के कार्यालय से जारी, उनके बयान में लिखा है कि, हाल ही में ग्वालियर में विश्वविद्यालय कुलपति को अटैक आने पर उन्हें अस्पताल में एडमिट कराकर उनकी जीवन रक्षा का प्रयास करने वाले विद्यार्थी परिषद के दो युवकों पर पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई और संपूर्ण घटना की जांच होगी। इस प्रकरण में युवकों द्वारा अनधिकृत रूप से वाहन के उपयोग और युवकों पर की गई कार्यवाही के संबंध में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने जांच के निर्देश दिए हैं।

डकैती की धारा लगाना न्यायोचित नहीं, मुख्यमंत्री ने कहा

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिए हैं कि युवकों पर डकैती की धारा लगाना न्यायोचित नहीं लगता क्योंकि युवक आपराधिक पृष्ठभूमि के नहीं हैं। युवकों द्वारा मानवीय दृष्टि से तो सही कार्य किया गया लेकिन यह सही है कि युवकों का तरीका गलत था। यह मानवीय संवेदनाओं से जुड़ा मामला है। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि मेरे संज्ञान में यह बात आई है। संपूर्ण परिस्थितियों को देखते हुए जांच के पश्चात न्यायपूर्ण कार्रवाई किया जाना उचित होगा। इस नाते जाँच का निर्णय लिया गया है। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !