MP NEWS - शहडोल पटवारी हत्याकांड, पुलिस ने खानापूर्ति के लिए फर्जी हत्यारा पकड़ लिया, लोकल रिपोर्ट

मध्य प्रदेश के शहडोल में रेत माफिया द्वारा की गई पटवारी श्री प्रसन्न सिंह की हत्या के मामले में पुलिस का पक्षपाती रवैया सामने आया है। पुलिस ने ना तो को रेत माफिया को नामजद किया और ना ही उस व्यक्ति को गिरफ्तार किया जिसने पटवारी प्रसन्न सिंह को ट्रैक्टर से कुचला था बल्कि ट्रैक्टर मालिक नारायण सिंह के कहने पर निर्दोष लड़के को गिरफ्तार कर लिया है। यह दावा शहडोल के पत्रकार श्री ऋषिकेश कुमार और सौरभ पांडे द्वारा किया गया है।

वह खुद ट्रैक्टर लेकर पुलिस थाने गया था

उनकी एक रिपोर्ट पब्लिश हुई है। इसमें पटवारी प्रसन्न सिंह की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए गए युवक शुभम विश्वकर्मा की मां और चाचा के बयान है।  शुभम की मां ने बताया कि, बेटा पूरी रात घर पर ही था। ट्रैक्टर मालिक नारायण सिंह का सुबह फोन आया कि, ट्रैक्टर लेकर थाने चले जाए। शुभम ने मलिक के कहने पर ट्रैक्टर उठाया और थाने चला गया। यहां पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और हत्यारा बता रही है। शुभम के चाचा प्रकाश विश्वकर्मा का कहना है कि ट्रैक्टर मालिक नारायण सिंह ने उनके भतीजे शुभम विश्वकर्मा को फसाया है। दोनों की तर्क में दम है। शुभम के परिवार वालों का कहना है कि यदि वह किसी अपराध में शामिल होता तो ट्रैक्टर मालिक की कहाँ पर पुलिस थाने नहीं जाता। उसे तो पता ही नहीं था कि वह पुलिस थाने क्यों जा रहा है। 

जैसा ट्रैक्टर मालिक ने कहा वैसा शेड्यूल पुलिस ने किया 

पत्रकार श्री ऋषिकेश और सौरभ की रिपोर्ट में शहडोल के पुलिसअधीक्षक श्री कुमार प्रतीक का बयान भी प्रकाशित हुआ है। पुलिस अधीक्षक शहडोल का कहना है कि ट्रैक्टर मालिक नारायण सिंह ने बताया था कि ट्रैक्टर शुभम चल रहा था इसलिए हमने शुभम को गिरफ्तार कर लिया है। 

शहडोल के पुलिस अधीक्षक का मासूमियत भरा बयान, मामले में पुलिस की भूमिका को संदिग्ध बना रहा है। पुलिस ने ट्रैक्टर मालिक नारायण सिंह को हिरासत में भी नहीं लिया, कोई पूछताछ भी नहीं की, नारायण सिंह ने जी ड्राइवर को थाने भेज दिया उसे गिरफ्तार कर लिया गया। समझना मुश्किल हो रहा है कि पुलिस सीआरपीसी के अनुसार काम कर रही थी या फिर नारायण सिंह के आदेश अनुसार। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है। 

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !