AIIMS BHOPAL में डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ के बीच तनाव, अस्पताल के बाहर प्रदर्शन

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित एम्स हॉस्पिटल में डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ के बीच में तनाव की स्थिति बन गई है। नर्सिंग ऑफिसर और एक महिला डॉक्टर के बीच में हुए विवाद के बाद दोनों पक्ष एक दूसरे के आमने-सामने आ गए हैं। डॉक्टर्स ने नर्सिंग ऑफिसर की शिकायत की है। दूसरी तरफ नर्सिंग स्टाफ ने अस्पताल के बाहर प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

AIIMS BHOPAL में आधी रात को नर्सिंग स्टाफ की हड़ताल

दोनों पक्षों की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है परंतु एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें नर्सिंग ऑफिसर प्रशांत भाटिया और कुछ डॉक्टर्स के बीच में बहस होती हुई दिखाई दे रही है। इस वीडियो में सुनाई दी गई बातचीत के आधार पर पता चलता है कि नर्सिंग ऑफिसर ने एक महिला डॉक्टर से कहा था कि, तुम डॉक्टर बनने लायक नहीं हो। इसके बाद महिला डॉक्टर के समर्थन में कुछ दूसरे डॉक्टर्स नर्सिंग ऑफिसर को डांटना लगे। इस दौरान डॉक्टरों द्वारा 2 बार अपशब्दों का प्रयोग किया गया। नर्सिंग ऑफिसर द्वारा व्यक्त की गई प्रतिक्रियाओं में एक बार कहा गया कि इस अस्पताल में मरीज मरते रहते हैं और डॉक्टर खड़े रहते हैं। 

एम्स निदेशक डॉ. अजय सिंह से दखल देने की अपील 

नर्सिंग स्टाफ का कहना है कि डॉक्टर अक्सर कर्मचारियों से बदमतीमी से बात करते हैं। बुधवार को भी ऑपरेशन के दौरान यही हुआ था। स्टाफ का आरोप यह भी है कि विवाद की जानकारी मिलने के बावजूद उपनिदेशक (प्रशासन) कर्नल अजीत कुमार ने भी नर्सिंग स्टाफ को नोटिस जारी कर दिया। उन्होंने नर्सिंग स्टाफ का पक्ष लिए बिना ही कार्रवाई कर दी। अब स्टाफ एम्स निदेशक डॉ. अजय सिंह से मामले में दखल देने की अपील कर रहे हैं।

इंसाफ नहीं मिला तो स्ट्राइक भी कर सकते हैं 

नर्सिंग स्टाफ ने बताया कि हम स्ट्राइक नहीं कर रहे हैं। सिर्फ न्याय की मांग कर रहे हैं। इस समय ड्यूटी पर करीब 600 से अधिक नर्सिंग स्टाफ हैं। स्वास्थ्य सेवाएं भी प्रभावित नहीं हो रही हैं। बता दें कि एम्स में 1200 से अधिक नर्सिंग स्टाफ है, जिसमें से करीब 400 से अधिक परिसर के बाहर मौजूद हैं। स्टाफ ने बताया कि अगर इंसाफ नहीं मिला, तो स्ट्राइक भी कर सकते हैं।

जांच के लिए कमेटी बना रहे हैं, एम्स डायरेक्टर ने कहा

स्टाफ की मानें, तो इसमें तीन डॉक्टर्स जो कि बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी विभाग के अलावा यहां के फैकल्टी हैं। डॉक्टर दीपक कृष्णा, डॉक्टर मनाल एम खान और डॉक्टर गौरव चतुर्वेदी ने स्टाफ के साथ बदसलूकी की। एम्स के कार्यपालक निदेशक डॉ. अजय सिंह ने बताया कि नर्सिंग स्टाफ और डॉक्टर्स दोनों तरफ से शिकायतें मिली हैं। एक जांच कमेटी बना रहे हैं। रिपोर्ट के आधार पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !