MP NEWS- ज्योतिरादित्य सिंधिया लोकसभा हेतु मैदान में उतरे, किला हारकर रण जीतेंगे

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 में भी केंद्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर काफी चर्चाएं होती रही परंतु इस बार उनके मुख्यमंत्री के पद पर दावेदारी को लेकर नहीं बल्कि, विधानसभा चुनाव लड़ेंगे या लोकसभा, इस बात को लेकर काफी हेडलाइंस बनी। भाजपा के सूत्रों ने बता दिया है कि श्री ज्योति आदित्य सिंधिया लोकसभा चुनाव 2024 में प्रतिभागी के रूप में शामिल होंगे और पिछले 7 दिनों की गतिविधियों ने इस खबर की पुष्टि भी कर दी। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया किला हारकर रण जीतेंगे

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं परंतु ग्वालियर चंबल संभाग में विधानसभा चुनाव के बहाने सिंधिया राज परिवार और खींची राज परिवार (राघोगढ़ वाले श्री दिग्विजय सिंह का परिवार) के बीच जंग चल रही है। 200 साल पहले शत्रु राजा एवं उसके सैनिकों को मार कर अथवा बंदी बनाकर उसके देश पर अपनी सत्ता स्थापित की जाती थी। अब चुनाव में एक दूसरे के समर्थकों को हराकर निर्वाचन क्षेत्र पर अधिकार किया जाता है। विधानसभा चुनाव 2023 में राघोगढ़ के राजा साहब दिग्विजय सिंह ने ग्वालियर के महाराज साहब ज्योतिरादित्य सिंधिया की जबरदस्त घेराबंदी की है परंतु महाराज साहब ज्योतिरादित्य सिंधिया के चुनाव अभियान पर निकलने के बाद स्पष्ट हो रहा है कि, उनकी घेराबंदी हुई नहीं है बल्कि उन्होंने अपने सभी राजनीतिक शत्रुओं को लामबंद हो जाने का मौका दिया है ताकि सबकी पहचान हो सके। 

पढ़िए ज्योतिरादित्य सिंधिया किस सीट से चुनाव लड़ेंगे

राघोगढ़ के राजा साहब दिग्विजय सिंह ने महाराज साहब ज्योतिरादित्य सिंधिया को गुना शिवपुरी लोकसभा सीट से हमेशा के लिए खदेड़ने हेतु इस निर्वाचन क्षेत्र में आने वाली विधानसभा सीटों पर कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों का चयन किया है। 2 दिन पहले तक यह माना जा रहा था कि, राजा साहब ने अच्छा चक्रव्यूह रचा है परंतु पार्टी सूत्रों से मिली खबर के बाद जब श्रीमंत महाराज साहब की गतिविधियों पर फिर से नजर डाली तो पता चला कि, वह मैदान में उतर चुके हैं और दोनों राज परिवारों के बीच में युद्ध भी शुरू हो चुका है। कंफर्म हो गया है कि श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया गुना शिवपुरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे। 

यहां लड़ाई भाजपा और कांग्रेस के बीच नहीं है। इस बार यहां सिंधिया और खींची के बीच सीधी जंग चल रही है और यह अगले साल लोकसभा चुनाव तक चलती रहेगी। राजा और महाराज दोनों के गुप्तचर, सैनिक यहां तक की विश्वसनीय योद्धा भी एक दूसरे की सेना में मौजूद है।

मैदान से लेकर हाईकमान तक हर स्तर पर तैयारी

संभव है कि विधानसभा चुनाव 2023 के नतीजे में गुना शिवपुरी लोकसभा सीट पर सिंधिया समर्थक अथवा भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी पराजित होते हुए दिखाई दें परंतु यह सब कुछ श्रीमंत महाराज साहब की खास रणनीति के तहत होगा। लोकसभा चुनाव 2024 में नजर बदल जाएगा। कई लोग अपनी गाड़ी पर कांग्रेस पार्टी का झंडा लगाकर श्रीमंत महाराज साहब के लिए काम करते हुए दिखाई देंगे। श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया विधानसभा चुनाव में अपने कुछ किले हारेंगे परंतु लोकसभा चुनाव में ऐसी खास रणनीति के तहत जवाबी हमला करेंगे कि, श्री दिग्विजय सिंह के साथ दशकों से चल रही छापा मारा लड़ाई का अंत हो जाएगा। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !