BHOPAL NEWS- बालाघाट का युवक, ब्लैकमेलिंग के बाद सुसाइड, डेड बॉडी तालाब में पड़ी मिली

मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले के निवासी 26 वर्षीय युवक की डेड बॉडी भोपाल के तालाब में पड़ी हुई मिली। उसे ब्लैकमेल किया जा रहा था। उसने अपने व्हाट्सएप स्टेटस पर एक दोस्त का फोटो लगाकर लिखा है कि यह मेरी मौत का जिम्मेदार है। उसके परिवार वालों ने एक सुसाइड नोट भी वायरल किया है। पता चला है कि, बालाघाट का ही दूसरा युवक उसे ब्लैकमेल कर रहा था। एक लड़की के साथ उसके आपत्तिजनक फोटो खींच लिए गए थे। 

लड़की बलात्कार के झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दे रही थी

मिथलेश कुमार दुरकुटे, उम्र 26 वर्ष, पिता का नाम भूपेश कुमार दुरकुटे भोपाल के एयरपोर्ट रोड पर बनी दाता कॉलोनी में बहन के घर में रह रहा था। यहां बीमार मां का इलाज कराने आया था। मृतक के परिजनों की ओर से एक सुसाइड नोट वायरल किया गया है। दावा किया जा रहा है की यह नोट मिथिलेश ने खुदकुशी से पहले लिखा है। इस सुसाइड नोट में लिखा है एक दोस्त एक युवती के साथ मिलकर उसे ब्लैकमेल कर रहा था। उसे बलात्कार के झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी जा रही थी।

सोशल मीडिया पर तीन पेज का सुसाइड नोट वायरल

शनिवार को बिन बताए बहन के घर से निकला था। रात करीब 1:00 बजे उसकी बॉडी बड़े तालाब से बरामद की गई। रविवार को उसके परिजनों की ओर से सोशल मीडिया में तीन पेज का सुसाइड नोट वायरल किया गया है। जो उसके द्वारा लिखा होने का दावा किया जा रहा है।

इस सुसाइड नोट में मिथिलेश ने एक दोस्त की प्रताड़ना से तंग आकर जान देने की बात लिखी है। इसमें लिखा गया है कि दोस्त एक युवती के साथ मिलकर ब्लैकमेल कर रहा है। बलात्कार के झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देता है। उसने मुझे जबरन एक कमरे में बंधक बनाया।

एक लड़की के साथ मेरी तस्वीरें लीं, वीडियो बनाई। इन्ही को वायरल करने की भी धमकी देता है। उसने एक अन्य दोस्त की कार चोरी की है, इसका इल्जाम भी मेरे पर ही आ रहा है। जबकि सब जानते हैं। मैं भला व्यक्ति हूं...इज्जत से बढ़कर मेरे लिए कुछ नहीं है। मुझे तो कार चलाना भी नहीं आता है।

मजबूरन आदर्श नाम के दोस्त के कारण जान देनी पड़ रही है। आदर्श लांजी का ही रहने वाला है। वह फिलहाल कोलार में रहता है। उसी के कारण जान दे रहा हूं। वही मेरी मौत का जिम्मेदार है।

स्टेटस पर दोस्त का फोटो लगाया

मौत से पूर्व मिथिलेश ने अपने वॉट्सऐप स्टेटस पर एक युवक को फोटो लगाया है। जिसमें उसने कैप्शन लिखा की यह मेरी मौत का जिम्मेदार है। इसी के कारण मै जान देने पर मजबूर हुआ हूं। हालांकि पुलिस ने इस संबंध में जानकारी होने से इनकार किया है।

थाना प्रभारी बोले नहीं मिला सुसाइड नोट

कोहेफिजा थाना प्रभारी बृजेंद्र मर्सकोले ने बताया कि मामले में मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। सुसाइड के सही कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। मृतक के परिजनों ने फिलहाल कोई सुसाइड नोट नहीं सौंपा है। शव पीएम के बाद उनके हवाले कर दिया है। मामले की जांच की जा रही है। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। ✔ यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें।  ✔ यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !