Mutual Funds- SIP और Lumpsum में अंतर, फायदे और नुकसान - Make money from home

Mutual Funds- Difference, advantages and disadvantages between SIP and Lumpsum

यदि आप म्यूचुअल फंड में निवेश करने का मन बना चुके हैं तो अपने लिए सबसे बेहतर म्युचुअल फंड चुनने के अलावा आपके सामने दो विकल्प और होंगे। SIP एवं Lumpsum इन्वेस्टमेंट प्लान। यदि आप किसी एजेंट के संपर्क में है तो वह आपको SIP के लिए प्रेरित करेगा लेकिन पूछने पर Lumpsum के बारे में भी सब कुछ बताएगा। कृपया उससे ज्यादा से ज्यादा सवाल करें और जानकारी जुटाएं। यह भी सुनिश्चित करें कि आपके लिए जो म्यूच्यूअल फंड प्रस्तावित किया गया है, क्या आप के उद्देश्य के हिसाब से बिल्कुल सही है। याद रहे कि बाजार में हजारों म्यूच्यूअल फंड उपलब्ध हैं और आप किसी का भी चुनाव करने के लिए स्वतंत्र हैं। 

Mutual Funds में SIP के जरिए निवेश के फायदे

SIP- सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आपके बैंक अकाउंट से हर महीने अपने आप एक निश्चित धनराशि कट जाती है और ज्यादातर भारतीय नागरिकों के लिए यह विकल्प सबसे अच्छा है क्योंकि, हम ऐसे लोग हैं जो समय पर अपना बिजली का बिल भी नहीं भरते। पेनल्टी से नहीं डरते। दूसरा फायदा यह है कि शेयर मार्केट के सभी टाइमफ्रेम में आपका इन्वेस्टमेंट हो जाता है। इसीलिए कहते हैं कि लोंग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए एसआईपी सबसे बढ़िया है। तीसरी सबसे खास बात यह है कि कंपाउंडिंग रिटर्न का फायदा मिलता है। 

Mutual Funds में SIP के जरिए निवेश के नुकसान 

15 साल से कम के निवेश का प्लान बना रहे हैं तो यह आपके लिए ज्यादा बेहतर नहीं होगा। ज्यादातर म्यूच्यूअल फंड SIP को BANK LOAN की किस्त की तरह काटते हैं। यदि निश्चित तारीख पर आपके बैंक अकाउंट में SIP के लिए धनराशि नहीं है तो आपको पेनल्टी भरनी पड़ सकती है। जिन लोगों की मासिक आय अगले 15-20 साल तक के लिए निश्चित नहीं है। उनके लिए SIP हानिकारक साबित हो सकती है। 

Mutual Funds में Lumpsum के जरिए निवेश के फायदे 

जागरूक और सक्रिय नागरिकों के लिए इससे बढ़िया कोई विकल्प नहीं है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आप बाजार पर नजर बनाकर रख सकते हैं और जब आपका सही समय आता है तब आप अपनी धनराशि निवेश कर सकते हैं। ऐसा करने पर आपको शेयर बाजार की तरफ से अधिकतम फायदा कमाने का मौका मिलता है। कई बार 1 से 3 साल के बीच में काफी अच्छा रिटर्न मिल जाता है। 15 साल तक रुकना नहीं पड़ता। 

इसके अलावा Mutual Funds में Lumpsum इन्वेस्टमेंट उन लोगों के लिए सबसे बढ़िया है जिनकी आय सुनिश्चित नहीं है। सरल हिंदी में कहें तो जो सरकारी कर्मचारी नहीं है। दुकानदार और प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों के लिए Mutual Funds में Lumpsum एक अच्छा विकल्प है। 

Mutual Funds में Lumpsum के जरिए निवेश के नुकसान 

Mutual Funds में Lumpsum प्लान से कोई नुकसान नहीं है लेकिन हम भारतीय नागरिकों की आदत के कारण काफी नुकसान हो जाता है। Lumpsum के लिए अपने बैंक अकाउंट में एक निश्चित धनराशि रोक कर रखनी पड़ती है। बाजार पर नजर बनाकर रखनी पड़ती है। जब सही समय आता है तब निवेश करके टाइम फ्रेम का अधिकतम लाभ उठाया जा सकता है, लेकिन इसके लिए सब कुछ आपके ऊपर निर्भर करता है। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। ✔ यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें।  ✔ यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !