DIGITAL का हिंदी मीनिंग क्या होता है, पढ़िए रोचक जानकारी - Bhopal Samachar GK

कहते हैं कि दुनिया डिजिटल हो चुकी है और बची हुई आधी दुनिया डिजिटल होने वाली है। व्यक्ति पढ़ा लिखा हो या अनपढ़, आज की तारीख में उसकी जिंदगी डिजिटल के बिना नहीं चल सकती। आपके मोबाइल फोन से लेकर आपके बैंक तक और किराने से लेकर कबाड़ तक सब कुछ डिजिटल हो चुका है। सवाल यह है कि डिजिटल क्या होता है। डिजिटल का हिंदी मीनिंग क्या है। आइए जानते हैं:- 

डिजिटल शब्द का मूल तकनीकी हिंदी मीनिंग

डिजिटल का मूल हिंदी मीनिंग है अंकीय, यह एक एडजेक्टिव है जो अंको या संख्या प्रणाली पर आधारित उपयोग की जाने वाली किसी भी चीज को संदर्भित करता है। उदाहरण के तौर पर एक एनालॉग घड़ी और डिजिटल घड़ी अथवा एक मैकेनिकल कैमरा और डिजिटल कैमरा। हर चीज जिसके नाम के आगे डिजिटल लगा है उसका तात्पर्य होता है कि यह वस्तु संख्या प्रणाली पर आधारित तकनीक का उपयोग करके बनाई गई है। यहां उल्लेख करना अनिवार्य है कि इलेक्ट्रॉनिक्स में डिजिटल एक ऐसी ब्रांच है जिसमें सभी संकेत अंकों में होते हैं। मजेदार बात यह है कि डिजिटल तकनीक में कुल 2 अंक होते हैं 0 और 1, इसके आधार पर आपकी आवाज दुनिया के किसी भी कोने में पहुंच जाती है। इसी के आधार पर आपका वीडियो दुनिया के किसी भी कोने में पहुंच जाता है और इसी के आधार पर सारी रंग बिरंगी तस्वीरें क्रिएट हो जाती हैं। 

डिजिटल शब्द का दूसरा मीनिंग

डिजिटल शब्द लैटिन भाषा के DIGITUS से बना है। इसका अर्थ होता है उंगली। यानी उंगलियों से उपयोग किए जाने वाला उपकरण डिजिटल माना जाता है, लेकिन उंगलियों से संचालित होने वाले सभी उपकरण डिजिटल नहीं होते। यहां उंगलियों से तात्पर्य अंकों यानी संख्या से है। जैसे ABACUS में उंगलियों का उपयोग अंकों के संकेत के लिए किया जाता है। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !