BHOPAL जिला शिक्षा अधिकारी ने लाउडस्पीकर पर प्रतिबंध नहीं लगवाया, बोर्ड परीक्षा में डीजे का शोर

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के जिला शिक्षा अधिकारी पता नहीं ऐसे कौन से कामों में व्यस्त हैं कि बोर्ड परीक्षाओं की औपचारिकताएं भी पूरी नहीं कर पा रहे हैं। परीक्षा शुरू होने से पहले कलेक्टर से संपर्क करके ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी करवाना होता है। लोक शिक्षण संचालनालय की ओर से इस हेतु परिपत्र भी जारी हुआ था परंतु जिला शिक्षा अधिकारी ने कोई ध्यान नहीं दिया। नतीजा बोर्ड परीक्षा में डीजे शोर मचा रहे हैं। परीक्षार्थियों को तंग कर रहे हैं। 

भोपाल के जिला शिक्षा अधिकारी ने परीक्षा जैसे जरूरी काम पर ध्यान नहीं दिया

मध्य प्रदेश में CBSE- सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन कक्षा 10 और कक्षा 12 की परीक्षाएं शुरू हो चुकी है। माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्य प्रदेश द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षाएं भी शुरू होने वाली है। इन परीक्षाओं से कम से कम 1 सप्ताह पहले से ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर प्रतिबंध लागू किया जाता है। ताकि कम से कम परीक्षा के दिनों में बच्चों को कोई डिस्टरबेंस ना हो। यह हर साल होता है। इस साल भी लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा परिपत्र जारी करके सूचित किया गया था कि ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर प्रतिबंध आदेश जारी करने हेतु कलेक्टर से संपर्क करें परंतु भोपाल के जिला शिक्षा अधिकारी ने परीक्षा जैसे जरूरी काम पर ध्यान नहीं दिया। 

भोपाल में कहां-कहां डीजे का शोर 

पटेल नगर, आनंद नगर, बीएचईएल सेक्टर से लेकर कोलार तक और संत हिरदाराम नगर से लेकर मंडीदीप तक पूरे शहर में जबरदस्त शोर मचा हुआ है। ना केवल रात के समय बारात का डीजे परेशान करता है बल्कि माता पूजन जैसी छोटी-छोटी रस्मों के लिए भी तेज आवाज में डीजे बजाया जाता है। ज्यादातर लोग चाहते हैं कि इस मामले में कलेक्टर कार्यवाही करें, क्योंकि डायल 100 से पुलिस बुलाकर परीक्षा के समय कोई विवाद में पड़ना नहीं चाहता। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !