Small Business Ideas- TES खोलिए, पहले साल ₹50000, दूसरे साल ₹2 लाख महीने प्रॉफिट बनेगा

What's the best business to start in 2023
, इस सवाल का जवाब लाखों लोग ढूंढ रहे हैं और अपन हर रोज इसी प्रश्न के उत्तर पर डिस्कस करते हैं। आज भी अपन एक ऐसे यूनिक बिजनेस आइडियाज पर डिसकस करेंगे जिसमें जो ग्राहक एक बार अपने पास आएगा वह बार-बार आता रहेगा। एक ग्राहक कम से कम 5 साल तक खरीदारी करेगा। अर्थात यदि आप हर रोज 5 नए ग्राहक बनाते हैं तो साल 2024 की शुरुआत में आपके पास 1825 नियमित ग्राहक होंगे और उनके कारण कम से कम 1800000 रुपे की एक्स्ट्रा कब होगी। 

प्रॉब्लम स्टेटमेंट और बिजनेस अपॉर्चुनिटी - Hot new business ideas

भारत की आबादी 140 करोड़ हो गई है और इसमें से 50% युवा हैं। यानी 70 करोड़ युवा ऐसे हैं, जिनकी या तो शादी हो गई है या फिर होने वाली है। शादी होगी तो बच्चे भी होंगे। बच्चे होंगे तो खिलौनों से भी खेलेंगे। खिलौनों में एक बड़ी समस्या है, चाइना के खिलौने बच्चों के स्वास्थ्य और देश की अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक है। सरकार इन्हें बाजार से बाहर निकालना चाहती है। भारत में कई खिलौना फैक्ट्री फिर से शुरू हो रही है लेकिन भारतीय खिलौनों की कीमत ज्यादा है क्योंकि वह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं है। प्रॉब्लम यह है कि महंगे और मजबूत खिलौने बार-बार नहीं खरीद सकते और बच्चों को दो हर सप्ताह नया खिलौना चाहिए। आज अपन इस प्रॉब्लम को सॉल्व करेंगे और यही सॉल्यूशन अपनी बिजनेस अपॉर्चुनिटी है। 

Which business will grow in 2023 - What industry will boom in 2023

Toy Exchange Station खोलिए। इसकी खास बात यह होगी कि पुराने खिलौने वापस लिए जाएंगे और नए खिलौने दिए जाएंगे। दोनों खिलौनों की MRP में जो अंतर होगा केवल वही लिया जाएगा। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि, लोग खिलौनों की कीमत में मोलभाव नहीं करेंगे। दूसरी बात, बच्चे को हर सप्ताह नया खिलौना दिलाने के लिए अपने पास चले आएंगे। कभी-कभी अपन को कीमत में अंतर की रकम ग्राहक को वापस करनी पड़ेगी लेकिन इसी के कारण अपना ग्राहक परमानेंट हो जाएगा। 

चलिए थोड़ा हिसाब किताब कर लेते हैं- What's the best business to start in 2023

  • अच्छी क्वालिटी के खिलौने खरीदेंगे। लोग ₹50000 की पूंजी से शुरु करते हैं तो अपन ₹100000 की पूंजी से शुरुआत करेंगे। 
  • कांसेप्ट यूनिक है इसलिए दुकान का प्राइम लोकेशन पर होना जरूरी नहीं है लेकिन विज्ञापन करना जरूरी है। 
  • 2022 में भारत में लोगों ने 12 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के खिलौने खरीदे हैं। इंडस्ट्री के चाणक्य का कहना है कि 2025 में मार्केट साइज 25000 करोड़ रुपए हो जाएगा। 
  • खिलौनों में प्रॉफिट मार्जिन काफी अच्छा होता है। 
  • मिडिल क्लास परिवार में एक बच्चे के लिए औसत ₹2000 के खिलौने खरीदे जाते हैं। इसमें कम से कम ₹1000 अपना प्रॉफिट होता है। 
  • यदि रोज के 5 ग्राहक भी आए तो ₹5000 रोज का प्रॉफिट बनेगा। अपन इसे और कम कर लेते हैं और मानते हैं कि 150000 नहीं बल्कि ₹50000 महीने ही बनेगा। 
  • 5 नए ग्राहक प्रतिदिन जुड़ते चले गए तो 1 साल में 365X5=1825 नियमित ग्राहक होंगे। जो हर सप्ताह खिलौने एक्सचेंज करेंगे।
  • अपन मिनिमम मानकर चलते हैं कि एक ग्राहक से मात्र ₹100 महीने क्या प्रॉफिट मिलेगा। तब भी यह रकम 1 महीने के लिए 1825X100=182500 हो जाती है। 
  • यदि 1 साल के लिए कैलकुलेट करेंगे तो 1825X1200=2190000 रुपए हो जाती है। 

ग्राहकों को कंटिन्यू करने के लिए क्या करें

  • साल 2024 में कुछ पुराने ग्राहक डिस्कंटीन्यू हो जाएंगे लेकिन अपन हर रोज 5 नए ग्राहक का टारगेट तो लेकर चली रहे हैं ना, विज्ञापन अभियान कब तक चलता रहेगा जब तक शहर के हर घर में अपना खिलौना ना पहुंच जाए। 
  • अपने एंड्रॉयड फोन में ग्राहकों की लिस्ट बनाएं। उन्हें नियमित रूप से व्हाट्सएप ब्रॉडकास्ट करते रहे। जब भी कोई नया खिलौना लेकर आएं सभी को उसका अपडेट भेजें। 
  • हर महीने बच्चों के लिए एक छोटा सा फ्री इवेंट ऑर्गेनाइज करें। फेसबुक और यूट्यूब पर लाइव करें। 
  • जब तक दूसरे खिलौने बेचने वाले लोग अपनी स्ट्रैटेगी को पहचान पाएंगे तब तक तो अपन सारे बच्चों को अपना सबस्क्राइबर बना चुके होंगे। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article) 

इसी प्रकार के स्मॉल बिजनेस आइडियाज और अन्य जॉब एवं बिजनेस अपॉर्चुनिटी के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। आपका धन्यवाद।