MP NEWS- सीएम ने जिन कन्याओं का पूजन किया था, SDM ने उनका घर तोड़ दिया

भोपाल
। मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले में दिनांक 4 जनवरी 2023 को आवासीय भू अधिकार योजना के शुभारंभ के अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिन कन्याओं का पैर पूजन किया था। SDM ने 8 दिन बाद उनका घर तोड़ दिया। 

मुख्यमंत्री ने कादंबरी और अंशिका के पैर पूजे थे

आवासीय भू अधिकार योजना का शुभारंभ करने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 4 जनवरी को टीकमगढ़ जिले के बगाज माता मंदिर पहुंचे थे। योजना की शुरुआत से पहले उन्होंने मंच पर कन्यापूजन किया था। इस दौरान छह बच्चियों के पैर पूजकर सीएम ने उन्हें गिफ्ट दिए थे। कन्या पूजन के दौरान 8 वर्षीय कादंबरी सोलंकी और 7 वर्षीय अंशिका सोलंकी भी मंच पर थी। इन दोनों बेटियों का सीएम ने पूजन कर कपड़े भेंट किए थे।

अचानक JCB लेकर आ गए, मौखिक सूचना तक नहीं दी

प्रशासनिक अमले ने शुक्रवार को दोनों बेटियों का मकान गिरा दिया। उनके पिता राघवेंद्र सिंह सोलंकी का कहना है कि कार्रवाई से पहले प्रशासन की ओर से उन्हें कोई नोटिस तक नहीं दिया गया। मौखिक सूचना भी नहीं दी गई। शुक्रवार सुबह अचानक पुलिस बल के साथ अफसर पहुंचे और जेसीबी से मकान गिराना शुरू कर दिया। 

पुलिस घर में से खींच कर ले गई

राघवेंद्र सिंह सोलंकी के छोटे भाई सत्येंद्र सिंह ने बताया कि शुक्रवार सुबह सब लोग घर में बैठे थे। इस दौरान पुलिस के अधिकारी अंदर आए और घर से बाहर निकालने लगे। जब भाई ने विरोध किया तो पुलिस ने मारपीट की। भैया-भाभी को पकड़कर ले गई। बच्चों को यही छोड़ दिया। दोनों को शुक्रवार देर रात छोड़ा गया।

मुख्यमंत्री के कन्या पूजन में राघवेंद्र की बेटियां नहीं थी: SDM

इस मामले में एसडीएम सीपी पटेल का कहना है कि राघवेंद्र सिंह सोलंकी ने सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा कर मकान बना रखा था। मुख्यमंत्री के कन्या पूजन कार्यक्रम में राघवेंद्र की बेटियां शामिल नहीं थी।

गोचर भूमि पर किया था कब्जा: SDM

एसडीएम ने बताया कि राघवेंद्र सिंह गांव का दबंग व्यक्ति है। उसने गोचर भूमि पर मकान बना रखा था। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर गोचर भूमि पर बना मकान तोड़ा है। उसने 20 एकड़ जमीन पर कब्जा कर फसल बोई थी। इसे भी नष्ट किया गया है।

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।