समुद्र में नीला, तालाब में हरा, पानी का असली रंग क्या होता है, यहां पढ़िए- GK Today

गहरे समुद्र की ओर देखें तो उसमें भरे पानी का रंग नीला दिखाई देता है लेकिन यदि गांव के तालाब की तरफ देखें तो पानी का रंग हरा सा दिखाई देता है। कभी-कभी पानी का रंग हल्का लाल भी दिखाई देता है। सवाल यह है कि पानी का असली रंग क्या होता है। आइए पता लगाते हैं:- 

रसायन विज्ञान के अनुसार पानी का रंग 

छत्रपति शाहूजी महाराज कानपुर यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट अनिल अग्निहोत्री बताते हैं कि, पानी के रंग का रहस्य उसके फार्मूले में छुपा है। किसी पदार्थ का रंग, गंध एवं स्वाद उस पदार्थ के pH या pOH पर निर्भर करता है। यानी कि जल अपघटन के पश्चात H+ आयन की मात्रा कितनी है या OH- आयन की मात्रा कितनी है, इस बात पर निर्भर करता है।
  • यदि हाइड्रोजन आयन की मात्रा यानी उसकी सांद्रता ज्यादा है तो उसका स्वाद खट्टा होता है। 
  • यदि OH- आयन की सांद्रता ज्यादा है तो उसका स्वाद कड़वा होता है। 
  • यदि हाइड्रोजन आयन और OH- आयन की सांद्रता बराबर है तो वह पदार्थ स्वादहीन होता है।
✔ पानी का फार्मूला है H2O = H+ + OH-
इस प्रकार जल के अणु में एक H+ और एक OH- होता है जिसके कारण ही जल स्वादहीन, रंगहीन एवं गंधहीन होता है। 

समुद्र का पानी नीला और तालाब का हरा क्यों होता है

विकिपीडिया पर किसी विद्वान ने लिखा है कि, शुद्ध पानी मामूली नीला रंग होता है परंतु इसके लिए कोई संदर्भ उपलब्ध नहीं कराया गया। अतः इसे प्रमाणित नहीं माना जा सकता। कहा तो यह भी जाता है कि समुद्र में आसमान की परछाई दिखाई देती है और आसमान नीला होता है इसलिए समुद्र का पानी भी नीला दिखाई देता है। तालाब में वनस्पति के कारण पानी में हल्का हरा रंग दिखाई देता है जबकि वह पानी का रंग नहीं होता। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article) 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है