आरपीएफ आरक्षक भर्ती, 19000 रिक्त पद का विज्ञापन जारी करने वाले गिरफ्तार - MP NEWS

जबलपुर
। रेलवे पुलिस फोर्स में 19000 कॉन्स्टेबल भर्ती का विज्ञापन जारी करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हालांकि इन दोनों ने किसी के साथ ठगी नहीं की है परंतु अनाधिकृत रूप से विज्ञापन जारी किया और सरकारी नौकरी के विज्ञापन के साथ प्राइवेट कंपनियों का विज्ञापन लगाकर कमाई की।

गया के वजीरगंज थाने में आरपीएफ ने एफआइआर दर्ज कराई

इधर RPF द्वारा बताया गया कि, गिरफ्त में आए आरोपितों कुंदन कुमार पिता रविंद्र प्रसाद और सोनू कुमार पिता उपेंद्र प्रसाद दोनों निवासी थाना वजीरगंज ग्राम तिलोरा बिहार गया से कड़ी पूछताछ की जा रही है। गया के वजीरगंज थाने में दोनों के खिलाफ आरपीएफ ने एफआइआर दर्ज कराई है।

यह है मामला - इसी माह इंटरनेट मीडिया पर आरपीएफ आरक्षक के 19 हजार 800 पदों के लिए विज्ञापन प्रसारित किया गया था। भर्ती में भाग्य आजमाने वाले कुछ बेरोजगार युवकों ने आरपीएफ अधिकारियों से संपर्क किया। अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल भर्ती नहीं निकली है, परंतु वाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, टेलीग्राम व इंस्टाग्राम पर विज्ञापन लगातार प्रसारित किया जा रहा था।

आरपीएफ अधिकारियों को संदेह हुआ, जिसके बाद साइबर सेल के माध्यम से पतासाजी की गई। जांच में पाया गया कि डिपार्टमेंट की ओर से ऐसा कोई विज्ञापन जारी नहीं किया गया है। आगे जांच की गई तो पता चला कि दो अनाधिकृत व्यक्तियों द्वारा इस प्रकार के विज्ञापन जारी करके अवैध कमाई की जा रही है। सरकारी नौकरी के मनगढ़ंत विज्ञापनों के साथ प्राइवेट कंपनियों के विज्ञापन प्रसारित किए जा रहे हैं।

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।