मध्यप्रदेश में नामांतरण की शिकायत नहीं आनी चाहिए, मुख्यमंत्री ने कहा- MP NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज नटेरन जिला विदिशा में आयोजित समरसता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि राजस्व रिकॉर्ड में नाम परिवर्तन की शिकायत यदि सीएम हेल्पलाइन में आती है तो इसका मतलब है तहसील कार्यालय में गड़बड़ी चल रही है। 

सीएम शिवराज सिंह ने तहसीलदारों को चेतावनी दी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इस तरह की शिकायतें बिल्कुल नहीं आनी चाहिए। नामांतरण का कोई भी मामला पेंडिंग नहीं होना चाहिए। उन्होंने भरे मंच से कहा कि यदि नामांतरण के प्रखंड पर निर्णय नहीं किया जा रहा है तो इसका मतलब होता है कि आवेदक को परेशान किया जा रहा है। तहसीलदार के यहां गड़बड़ी हो रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जब मैं जनता के बीच जाऊं, तब इस तरह की कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। 

मध्यप्रदेश में बिना रिश्वत के नामांतरण नहीं होता!

यह एक कड़वा सच है। जिस प्रकार परिवहन विभाग में बिना रिश्वत के कोई काम नहीं होता ठीक उसी प्रकार राजस्व विभाग में तहसीलदार के कार्यालय में बिना रिश्वत के कोई नामांतरण नहीं होता। इस मामले में भाजपा के कार्यकर्ता खुद गवाही दे सकते हैं। उनके स्वयं उपस्थित हो जाने पर रिश्वत में डिस्काउंट मिल जाता है परंतु बिना रिश्वत के राजस्व रिकॉर्ड में नाम परिवर्तन नहीं होता।