SHARAD PURNIMA 2022- शरद पूर्णिमा के दिन सफेद रंग का महत्व

SHARAD PURNIMA
- हिन्दू धर्म के अनुसार मनुष्य के जीवन में हर रंग का विशेष महत्व है। हर रंग अलग-अलग संकेत देता है और अलग-अलग ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है। बात अगर सफेद रंग कि की जाए तो यह रंग चंद्रमा का होता है और यह शांति का प्रतीक माना गया है।वैसे तो सप्ताह में सोमवार का दिन चंद्रमा को समर्पित किया गया है। मगर वर्ष में एक बार पड़ने वाली शरद पूर्णिमा का दिन चंद्रमा के लिए विशेष होता है। इस दिन सफेद रंग का महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है।

आप अपने जीवन में सुख और समृद्धि के लिए शरद पूर्णिमा के दिन सफेद रंग का अलग-अलग तरह से उपाय कर सकती हैं और अच्छे फल प्राप्त कर सकती हैं। शरद पूर्णिमा के दिन आपको लड्डू गोपाल का श्रृंगार जरूर करना चाहिए। इस दिन आपको लड्डू गोपाल को सफेद रंग की पोशाक पहनानी चाहिए और चांदी से उनका श्रृंगार करना चाहिए। इतना ही नहीं, आपको चंद्रमा की छांव में लड्डू गोपाल को कुछ वक्त के लिए रखना भी चाहिए। इस दिन आपको चावल के घोल से घर के मुख्य द्वार पर ऐपण आर्ट भी करनी चाहिए। यदि आपको यह आर्ट करनी नहीं आती है तो आप चावल के घोल से जमीन पर चौक भी बना सकती हैं। आपको बता दें कि यह एक पारंपरिक आर्ट है और इससे आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है। 

आप शरद पूर्णिमा के दिन चांदी का सामान खरीद सकती हैं, यह बहुत ही शुभ होता है। चांदी हो या सोना दोनों ही धातुएं देवी लक्ष्‍मी का प्रतिनिधित्व करती हैं। आप इस दिन चांदी का सिक्का खरीद सकती हैं या फिर आप चांदी की प्लेट, गिलास या फिर आप चांदी की पायल भी खरीद सकती हैं। इससे आपके घर में सुख और शांति के साथ-साथ धन की आवकता भी बढ़ेगी। आप शरद पूर्णिमा के दिन सफेद वस्तुओं का दान कर सकती हैं। इस दिन चावल, दूध, सफेद रंग की मिठाई, चीनी और अन्य सफेद चीजों को दान किसी निर्धन को करें। सबसे अच्‍छा रहता है कि आप वस्तुओं का दान किसी मां समान महिला को करें, क्योंकि चंद्रमा का संबंध मां से माना गया है। 

शरद पूर्णिमा के दिन आपको खीर बनानी चाहिए। खीर का भोग भगवान श्री कृष्ण और चंद्रमा को भी जरूर लगाना चाहिए। आपको बता दें कि श्रीकृष्ण खीर अति प्रिय होती है और सफेद रंग होने के कारण यह चंद्रमा का प्रतिनिधित्व भी करती है। आप शरद पूर्णिमा के दिन सफेद या फिर चमकीले रंग के कपड़े धारण करती हैं, तो उससे भी आपको फायदा होता है। इससे न केवल आप शांति महसूस करती हैं बल्कि आपका क्रोध भी शांत हो जाता है।