पूर्व क्षेत्र बिजली कंपनी के संविदा कर्मचारियों का शक्ति प्रदर्शन, इंजीनियरों का वर्क टू रूल- JABALPUR NEWS

जबलपुर
। पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी में संविदा कर्मियों ने शक्ति प्रदर्शन किया। 21 जिलों के संविदा कर्मी एकत्र हुए और ग्वारीघाट से शक्तिभवन तक रैली निकाली। मप्र विद्युत मंडल पत्रौपाधि अभियंता संघ के चरणबद्ध आंदोलन के क्रम में 14 अक्टूबर से वर्क टू रूल शुरू कर दिया गया है। यह 5 दिन तक चलेगा। 

कर्मचारी नियमित करने की मांग कर रहे हैं। इसके पूर्व कर्मचारियों ने ग्वारीघाट में कोरोना दिवंगत कर्मियों की याद में दीपदान किया। यह प्रदर्शन विद्युत अधिकारी-कर्मचारी कल्याण संगठन के बैनर तले यह प्रदर्शन हुआ। कर्मचारियों ने आउटसोर्स कर्मियों के लिए मानव संसाधन नीति बनाने की मांग की है। इधर मप्र विद्युत मंडल पत्रौपाधि अभियंता संघ ने विरोध प्रदर्शन के तहत मंगलवार से वर्क टू रूल के तहत प्रदर्शन शुरू किया है। इसके तहत कनिष्ठ अभियंता कार्यालयीन समय के पश्चात कोई कार्य नहीं करेंगे।

मप्र यूनाइटेड फोरम फार पावर एम्पलाइज एवं इंजीनियर्स एसोसिएशन का घटक दल मप्र विद्युत अधिकारी-कर्मचारी कल्याण संगठन ने यह प्रदर्शन किया। इसमें सुबह 10 बजे से ग्वारीघाट पर सभी संविदा कर्मी एकजुट हुए और घाट पर दीपदान किया। इसके पश्चात बिजली संविदा कर्मियों ने रैली के रूप में ग्वारीघाट से शक्तिभवन तक पैदल मार्च किया। इस दौरान जमकर नारेबाजी की गई। 

शाम को शक्तिभवन मुख्यद्वार पर पूर्व क्षेत्र कंपनी की मुख्य महाप्रबंधक मानव संसाधन नीता राठौर को मांगों के संदर्भ में ज्ञापन सौंपा। विरोध करने वालों में विद्युत संविदा अधिकारी कल्याण संघ का अध्यक्ष अरूण ठाकुर, अजय नामदेव, आर के पचौरी, मनोज साहू, सुजीत मेहतो, आदित्य चौबे, राजकुमार पंती, अंकिता फरसोरिया, अरुण मालवीय, भास्कर द्विवेदी, विकास द्विवेदी, राजीव रंजन आदि मौजूद रहे।

बिजली कंपनी इंजीनियरों के आंदोलन में 5 दिन का वर्क टू रूल 

मप्र विद्युत मंडल पत्रौपाधि अभियंता संघ ने चरणबद्ध आंदोलन के तहत 14 अक्टूबर से 18 अक्टूबर तक वर्क टू रूल के तहत कार्य करने का फैसला किया है। अभियंता संघ के इंजी जीके वैष्णव और अशोक जैन ने बताया कि सभी कनिष्ठ अभियंता, सहायक यंत्री कार्यालयीन समय 10 से शाम छह बजे के बीच कार्य करेंगे। अतिरिक्त समय कार्य में नहीं देंगे। शासकीय अवकाश के दिनों में कार्य नहीं करेंगे। आपातकाल के समय को छोड़कर ड्यूटी के अतिरिक्त कार्य नहीं करेंगे। लाइन संबंधी कार्य अधिकृत कर्मचारी से ही कराए। प्रांतीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष अशोक जैन ने कहा कि बिजली कंपनी में कार्यरत 3500 कनिष्ठ अभियंता, वरिष्ठ सहायक अभियंता अपनी सात सूत्रीय जायज मांंगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। संघ के केके असाटी, जेए शास्त्री, अर्जुन सिंह, एनपी सिंह, धीरेंद्र कुशवाहा, सतीश कुमार आदि अभियंताओं से विरोध प्रदर्शन में शामिल होने का आव्हान किया है।