मध्य प्रदेश पुलिस के कर्मचारियों का वेतन पुनरीक्षण करने की मांग- MP NEWS

जबलपुर
। मध्य प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ ने जारी विज्ञप्ति में बताया कि पुलिस महकमे को आज भी महंगाई के इस दौर में 18 रूपये विशेष पुलिस भत्ता पिछले 50 साल से दिया जा रहा है जो कि महकमे के साथ सरासर अन्याय है। 

पुलिस विभाग 24 घंटे लगातार शासन प्रशासन के जन  हित में सुरक्षा हेतु तत्पर है उसके बाद भी उसके साथ महंगाई के इस दौर में सौतेला व्यवहार किया जा रहा है इनको यात्रा भत्ता भी समय पर भुगतान नहीं किया जाता यात्रा भत्ता प्रत्येक माह दिया जाए पुलिस महकमे की सेवा भावना व तत्परता को देखते हुए अन्य कर्मचारियों से हटकर विशेष उच्च वेतनमान दिया जाना चाहिए । लगातार मोबाइल कॉलिंग महंगी होती जा रही है अतः मोबाइल अलाउंस भी बढ़ाकर प्रतिमाह मोबाइल भत्ता दिया जाना चाहिए। एवं वर्दी भत्ता भी प्रत्येक माह दिया जावे। 

संघ के योगेन्द्र दुबे , गोविन्द बिल्थरे , रजनीश तिवारी अर्वेन्द्र राजपूत अवधेश तिवारी अटल उपाध्याय आलोक अग्निहोत्री मुकेश सिंह , मिर्जा मंसूर वेग , आशुतोष तिवारी , ब्रजेश मिश्रा ,डा संदीप नेमा , मनीष शुक्ला , मनीष लोहिया , महेश कोरी , विनय प्रियांशु शुक्ला,धीरेन्द्र सोनी मो तारिक नितिन शर्मा श्याम नारायण तिवारी संतोष तिवारी गणेश उपाध्याय , आनंद रैकवार ने माननीय गृहमंत्री जी को ईमेल कर से माग कि है कि पुलिस महकमें से सौतेला व्यवहार बंद कर पुलिस कर्मियों के वेतनमान पुनरीक्षण किया जावे।