INDORE कमिश्नर ने खरगोन में एक प्राचार्य को सस्पेंड किया, छात्रों की किताबें बेचने का आरोप- NEWS TODAY

खरगोन।
मध्य-प्रदेश के खरगोन जिले में शासकीय उत्कृष्ठ उमावि बड़वाह के प्राचार्य सुधीर कुमार राठौर को इंदौर आयुक्त द्वारा किताबों के बेचने के मामले में निलंबित किया गया है। खरगोन कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम के प्रतिवेदन के आधार पर कार्रवाई की गई है। अगस्त में पाठ्यपुस्तक योजनान्तर्गत किताबें बेचने में अनियमितता का मामला सामने आया था।

कलेक्टर कुमार द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी के माध्यम से जांच करवाई गई। जांच के बाद स्थिति स्पष्ठ हुई। जांच में आया कि शासकीय उत्कृष्ठ उमावि के प्राचार्य राठौर द्वारा विक्रय के लिए समिति बनाई गई मगर जांच दल को जांच दल बनाने के संबंध में कोई दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किए गए। उल्लेखनीय है कि लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा अनुपयोगी फर्नीचर के अपलेखन के लिए विधिवत प्रक्रिया अपना कर परिसर से बाहर करने के निर्देश है। जबकि बड़वाह में प्राचार्य द्वारा किताबों का विक्रय किया गया। वही पुस्तकों के विक्रय करने के सम्बंध में कोई निर्देश नहीं है।

प्राचार्य द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी से भी कोई अनुमति प्राप्त नहीं की गई। उनके द्वारा वर्ष 2019 एवं पूर्व की पुस्तकें विक्रय की गई। प्राचार्य राठौर द्वारा पदीय दायित्वों के निर्वाहन में लापरवाही एवं उदासीनता बरती गई। इंदौर आयुक्त डॉ. पवन शर्मा ने मप्र सिविल सेवा नियम के तहत निलंबित किया गया।