BHOPAL में भी बने हैं लड़कियों के बाथरूम वीडियो, ITI की छात्रा ने मामला दर्ज कराया- MP NEWS

कुछ दिनों पहले चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में बाथरूम में नहाती हुई लड़कियों की वीडियो का मामला सामने आया था। बिल्कुल वैसा ही मामला मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी सामने आया है। गोविंदपुरा स्थित आईटीआई कॉलेज की छात्रा ने मामला दर्ज करवाया है। आरोपी इसी कॉलेज के 2 छात्र और एक लड़की है। 

मामला अशोका गार्डन थाना पुलिस का है परंतु यह इन्वेस्टिगेशन का एक विषय हो सकता है कि लड़की ने पिपलानी थाने जाकर मामला दर्ज करवाया। लड़की ने पुलिस को बताया कि वह आईटीआई गोविंदपुरा में पढ़ाई करती है। इसी कॉलेज में उसके साथ पढ़ने वाली एक लड़की और दो अन्य लड़कों ने मिलकर वॉशरूम में कपड़े बदलते समय उसका वीडियो बना लिया और अब उसे ब्लैकमेल कर रहे हैं। 

पिपलानी थाना पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद नियमानुसार अशोका गार्डन थाना पुलिस को ट्रांसफर कर दिया है। अशोका गार्डन पुलिस की ओर से कंफर्म किया गया है कि मामले की इन्वेस्टिगेशन शुरू कर दी गई है। समाचार लिखे जाने तक किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया था।

पढ़िए लड़की की शिकायत जो उसने पुलिस को बताई

पीड़ित छात्रा ने बताया- मैं पिपलानी की रहने वाली हूं। मैं आईटीआई गोविंदपुरा से पढ़ाई कर रही हूं। 17 सितंबर को में विश्वकर्मा जयंती का प्रोग्राम था। मैं कपड़े बदलने के लिए वॉशरूम गई थी। इसी दौरान के पूर्व छात्र राहुल यादव, खुशबू ठाकुर और अयान ने मेरा वीडियो बना लिया। मेरे एक दोस्त ने 20 सितंबर को मुझे इसकी जानकारी दी। उसने बताया कि तीनों ने उसे वीडियो दिखाया। जिसमें मैं कपड़े बदलते दिख रही हूं।

तीनों एक्स स्टूडेंट्स ने मुझे वीडियो वायरल करने की धमकी दी। ऐसा नहीं करने के एवज में मुझसे पैसे मांगे। मेरे दोस्त ने वीडियो वायरल करने का मना करते हुए खुशबू ठाकुर को 500 रुपए दे दिए। इसके बाद वे तीनों और पैसे मांग रहे हैं। उन्होंने धमकी दी। कहा- पैसे नहीं दोगी तो वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर देंगे। तुम्हारी बदनामी होगी। तेरा कैंपस जाना बंद करा देंगे। तुम्हें बर्बाद कर देंगे। तुम्हारे मां-बाप को मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ेंगे। हमारे पास उन्हें देने के लिए इतने पैसे नहीं हैं। मैं डर गई। घर पर भी बताने की हिम्मत नहीं थी। डर के मारे हम घर से दूर जाने के लिए निकल रहे थे, लेकिन पुलिस हमें रेलवे स्टेशन से पकड़कर थाने लाई।'