मध्य प्रदेश मानसून- 2 दिशाओं से बादल आ रहे हैं, भारी बारिश होगी- MP WEATHER FORECAST

भोपाल
। वापस लौटते मानसून के बादल जिस प्रकार की बारिश कर रहे हैं, मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि मध्य प्रदेश के 20 जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश होगी। दिनांक 3 अक्टूबर 2022 के आसपास मौसम खराब हो सकता है। कृपया नोट करें कि 48 घंटे पहले का मौसम का पूर्वानुमान ही सटीक माना जाता है।

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान- दशहरा के आसपास भारी बारिश का खतरा

भारत मौसम विज्ञान विभाग के वैज्ञानिकों का कहना है कि मानसून की वापसी मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड, बघेलखंड और महाकौशल के आसमान से होगी। इसलिए उमरिया, अनूपपुर, शहडोल, डिंडोरी, कटनी, छिंदवाड़ा, जबलपुर, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरोली, छतरपुर, सागर, पन्ना, निवाड़ी और दमोह में कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। 

नोरू तूफान के बादल भी मध्यप्रदेश में आकर बरसेंगे 

समुद्र में नोरू नाम का तूफान आ रहा है। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि एसोसिएटेड साइक्लोनिक सर्कुलेशन 01 अक्टूबर को पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी (BoB) में प्रवेश करेगा। यह पश्चिम मध्य BoB पर पहले से मौजूद परिसंचरण को समाहित कर लेगा और 02 अक्टूबर को पश्चिम मध्य और उत्तर पश्चिमी BoB पर एक व्यापक चक्रवाती परिसंचरण विकसित होगा। यह 03 अक्टूबर को तट के करीब और अधिक मजबूत होगा। उसी दिन क्षेत्र में निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है।

पश्चिम बंगाल, ओडिशा, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश को कवर करते हुए गहरे अंतर्देशीय वर्षा बेल्ट का विस्तार करते हुए, 04 अक्टूबर को कम दबाव के तट को पार करने की उम्मीद है। आगे पश्चिम की ओर बढ़ने से महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, दिल्ली और उत्तराखंड में बारिश के दिन होंगे। पश्चिमी और उत्तरी भागों में इस मौसम प्रणाली की गहरी पैठ देश के उत्तर और मध्य भागों से और अधिक वापसी के लिए परिणामी होगी।

कुल मिलाकर सरल हिंदी में बात यह है कि समुद्र में जो तूफान आ रहा है वह 1 अक्टूबर को भारत की जमीन से टकराएगा। इस तूफान के कारण बादल उठेंगे और मध्य प्रदेश सहित भारत के कई राज्यों में बेमौसम बरसात होगी।