Small Business Ideas- साल में 3 महीने काम करके 10 लाख रुपए कमाइए

यदि आपको किसी भी सब्जेक्ट पर R&D करना आता है तो हम आपको एक ऐसा यूनिक स्टार्टअप आइडिया देने जा रहे हैं जिस पर आज से पहले शायद कहीं कोई काम नहीं हो रहा है लेकिन यह एक ऐसा प्रॉब्लम सॉल्विंग बिजनेस आइडिया है जिसकी सफलता की संभावना 100% है। 

लोगों की प्रॉब्लम और मार्केट का कल्चर

सोसाइटी में यदि कोई विवाह संबंध होता है तो लोग अपने स्तर पर पूछताछ करते हैं। कुछ लोग इसके लिए डिटेक्टिव एजेंसी की मदद लेते हैं। यदि कोई प्रॉपर्टी खरीदनी हो तो किसी एक्सपर्ट के माध्यम से रिसर्च रिपोर्ट बनवाई जाती है। यदि लोन लेना हो तो लोन देने वाली कंपनी आपका सिविल इसको देखती है। यानी कि कुछ भी बड़ा करने से पहले उसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाई जाती है। ताकि किसी भी प्रकार के धोखे का शिकार ना हो, लेकिन जब किसी अनजान कॉलेज में बच्चे के एडमिशन की बात आती है तो बाजार में ऐसा कोई विकल्प भी उपलब्ध नहीं है जो बता सके कि कॉलेज सचमुच अच्छा है या नहीं। 

भारत में हर साल लाखों पेरेंट्स अपने बच्चे के लिए अच्छे कॉलेज की तलाश करते हैं। एंट्रेंस एग्जाम के बाद काउंसलिंग और एडमिशन कंफर्म करने के बीच में पेरेंट्स को बहुत कम समय मिलता है। वह अपने बच्चे के लिए अच्छा कॉलेज चाहते हैं परंतु उन्हें नहीं मालूम होता कि उनके सामने जो विकल्प उपलब्ध हुए हैं वह अच्छे हैं या नहीं है। वह कॉलेज के बारे में डिटेल रिसर्च रिपोर्ट पाना चाहते हैं परंतु कोई एजेंसी नहीं है जो उनके सवालों के जवाब देती हो। 

लेटेस्ट न्यू स्टार्टअप आइडियाज

आप एक ऐसी ही एजेंसी शुरू कर सकते हैं जो कॉलेजों की रिसर्च रिपोर्ट बना कर देती है। जो बताती है कि कॉलेज कैसा है, इसका पढ़ाई का स्तर कैसा है, इसमें एक्टिविटीज कैसी होती हैं, इसके केंपस प्लेसमेंट का एक्चुअल स्कोर क्या है, रैगिंग होती है या नहीं, हॉस्टल कैसा है, मैनेजमेंट कैसा है, कॉलेज की पॉलिसी कैसी है। 

भारत में एडमिशन का दौर अधिकतम 3 महीने चलता है। यदि आपने अकेले काम किया और प्रतिदिन केवल 20 क्लाइंट को सर्विस दी बदले में मात्र ₹1000 फीस ली तब भी 9 लाख रुपए आपके। यह बताने की जरूरत नहीं की यह एजेंसी ऑनलाइन काम करेगी। आपको क्लाइंट के साथ ओवर द फोन डिस्कशन करना होगा, साल भर थोड़ा-थोड़ा डाटा कलेक्शन करते रहना पड़ेगा ताकि आपकी रिसर्च रिपोर्ट एकदम एक्चुअल हो। 

ट्राई करके देख लीजिए, जम जाए तो स्टाफ रख लीजिएगा। बड़ा ऑफिस बना लीजिएगा। एक ऑफिशल वेबसाइट और मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च कर दीजिएगा। PAYTM और BYJUS सहित हजारों स्टार्टअप ऐसे ही शुरू हुए हैं और आज करोड़ों का कारोबार कर रहे हैं। जीरो इन्वेस्टमेंट बिजनेस प्लान है, लेकिन बिजनेसमैन का टैलेंटेड होना जरूरी है।