मध्य प्रदेश मानसून- 19 जिलों में भारी बारिश होगी- MP WEATHER FORECAST

भोपाल
। भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जारी मौसम का पूर्वानुमान एवं किसान मौसम बुलेटिन के अनुसार मध्य प्रदेश के 19 जिलों में भारी वर्षा की संभावना है। कुछ स्थानों पर 115 मिलीमीटर तक बारिश हो सकती है। इसके कारण नदी नालों में बाढ़ की स्थिति बन जाएगी। निचले इलाकों में जलभराव हो सकता है। यह स्थिति 15 अगस्त तक बनी रह सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि मध्यप्रदेश के आसमान पर छह प्रकार के बादल जमे हुए हैं। 13 अगस्त को एक नया वेदर सिस्टम एक्टिव हो जाएगा। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान- किस जिले में कितनी बारिश होगी 

मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, मुरैना, भिंड, श्योपुर, अनूपपुर, डिंडौरी, बालाघाट, पन्ना, धार, टीकमगढ़,नीमच, मंदसौर, राजगढ़, शिवपुरी, ग्वालियर और दतिया जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। उपरोक्त के अलावा भोपाल, नर्मदापुरम, रीवा, सागर, चंबल और ग्वालियर संभागों के साथ अनूपपुर, डिंडौरी, नीमच और मंदसौर में वज्रपात का खतरा बताया गया है। सभी जिलों के लिए मौसम विभाग में येलो अलर्ट जारी किया है। नागरिकों से अपील है कि मौसम को ध्यान में रखकर अपनी योजना बनाएं। मौसम बिगड़ने पर स्वयं को सुरक्षित करें। 

मध्य प्रदेश मौसम समाचार- कहां कितनी बारिश हुई 

पिछले 24 घन्टों के दौरान प्रदेश के जबलपुर, शहडोल,सागर, उज्जैन, भोपाल संभागों के जिलों में अधिकांश स्थानों पर रीवा, नर्मदापुरम, इंदौर, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में अनेक स्थानो पर वर्षा दर्ज की गई। सबसे अधिक वर्षा ब्यावरा में 22 सेंटीमीटर, अशोकनगर, बडामलहरा 18 राजगढ 13. बिरसा, खिलचीपुर, नरसिंहगढ 12, नीमच, सिमरिया 11, पवई, जैतपुर, हटा, जीरापुर 10 बिजावर 9 लालबर्रा, शाहपुरा, बामौरी, गंजबासौदा एवं जावद क्षेत्र में 8 सेंटीमीटर दर्ज की गई।