Small Business Ideas- पूंजी नहीं तो क्या, क्रिएटिविटी से कमाइए, अपना ब्रांड बनाइए

करोड़ों लोग ऐसे हैं जिनके दिमाग में कुछ ना कुछ क्रिएटिव चलता रहता है। उनके आइडियाज बड़ा बिजनेस खड़ा कर सकते हैं लेकिन फैमिली सपोर्ट नहीं करती। जब इन्वेस्टमेंट की बारी आती है तो घरवाले प्रॉफिट की गारंटी मांगने लगते हैं। आज अपने घर से बिजनेस के बारे में डिसकस करेंगे जो जीरो इन्वेस्टमेंट होगा, स्टार्ट तो स्मॉल स्केल से होगा लेकिन जल्द ही एक ब्रांड बन जाएगा। 

अपन यूज्ड फैशन को रिसाइकल करके कुछ नए प्रोडक्ट बनाएंगे। हर घर में ऐसे बहुत सारे कपड़े, जूते, बेल्ट और फैशन प्रोडक्ट होते हैं, जो आउट ऑफ फैशन हो जाते हैं। जो कहीं से थोड़े खराब हो जाते हैं। जो पुराने हो जाते हैं और उनका उपयोग बंद कर दिया जाता है। फ्रेंड्स एंड फैमिली आपको फ्री में दे देंगे। ऐसे कपड़ों और सभी प्रोडक्ट को कलेक्ट करके आप काफी सारे यूनिक प्रोडक्ट्स बना सकते हैं। जो डेली लाइफ में, होम डेकोरेशन में, इंटीरियर में, स्टडी रूम में यहां तक की बाजार में भी काम आ सकते हैं। 

पुराने कपड़े और फैशन प्रोडक्ट से क्या बना सकते हैं

  • पुराने कपड़ों के फैशनेबल बैग बना सकते हैं। वैसे भी प्लास्टिक बैन हो गई है।
  • पुराने जूतों पर वाइट सीमेंट यूज़ करके फ्लावर पॉट बना सकते हैं। 
  • जमीन पर मैट्रेस के नीचे बिछाने के लिए दरी बना सकते हैं। 
  • डाइनिंग टेबल पर थाली के नीचे रखने के लिए मैट्स बना सकते हैं। 
  • जींस के कपड़े का फ्लावर पॉट बना सकते हैं। 
  • कपड़े और कुछ दूसरे फैशन प्रोडक्ट को मिलाकर फोटो फ्रेम बना सकते हैं। 
  • कॉटन के कपड़ों उससे नैपकिन बना सकते हैं। 
  • होजरी वाली बनियान से किचन में गंदे हाथ पहुंचने के लिए हैंड टॉवल बना सकते हैं। 
  • पुरानी टीवी को फिश एक्वेरियम बना सकते हैं।
  • और ऐसे ही हजारों प्रोडक्ट जो अब आपके दिमाग में चलने लगे होंगे। 

इस तरह के प्रोडक्ट्स की बाजार में काफी कीमत होती है। जब डिमांड बढ़ जाए तो अपनी कंपनी बना लेना। ऐसे प्रोडक्ट्स हैंडीक्राफ्ट की कैटेगरी में भी आ सकते हैं। सरकार की तरफ से लोन और सब्सिडी का फायदा मिल सकता है। शहर में लगने वाले सभी मेले, एग्जिबीशंस में अपना डिस्प्ले स्टॉल लगा सकते हैं। क्योंकि हर प्रोडक्ट अपने आप में यूनिक होगा, लोग इसकी मनचाही कीमत देने को तैयार हो जाएंगे। बस उन्हें पसंद आना चाहिए। 



100% गारंटी के साथ कहा जा सकता है कि आपकी क्रिएटिविटी आपके स्टार्टअप को एक स्टाइलिश ब्रांड बना देगी। इन्वेस्टमेंट नहीं कॉन्फिडेंस की जरूरत है। ट्रायल करने में क्या जाता है, चुपचाप करके देखिए।