MP NEWS- सिवनी में पीडब्ल्यूडी इंजीनियर रिश्वत लेते गिरफ्तार, लोकायुक्त का दावा

सिवनी
। लोकायुक्त पुलिस दल ने दावा किया है कि उन्होंने एक छापामार कार्रवाई के दौरान सिवनी जिले में लोक निर्माण विभाग के प्रभारी परियोजना यंत्री आनंद गोल्हानी (असिस्टेंट इंजीनियर) को ₹30000 रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। एक ठेकेदार का फाइनल पेमेंट करने के बदले रिश्वत ले रहे थे।

लोकायुक्त दल के प्रभारी व डीएसपी दिलीप झरबड़े ने बताया कि, प्रभारी परियोजना यंत्री आनंद गोल्हानी ने जिले के बंडोल थाना अंतर्गत बांकी गांव निवासी ठेकेदार संतोष सिंह बघेल ने 70 हजार रुपये की रिश्वत मांगी थी। बाद में दोनों के बीच 30 हजार रुपये में सौदा तय हुआ था। इसकी शिकायत प्रार्थी संतोष सिंह बघेल ने लोकायुक्त जबलपुर से की थी। 

प्रार्थी ठेकेदार के मुताबिक उसने इसी साल लखनादौन उपजेल में 20 बैरक का निर्माण पूर्ण किया था। विभाग में जमा एफडीआर को निकलवाने और अंतिम बिल की रुकी राशि का भुगतान करने के एवज में प्रभारी परियोजना यंत्री द्वारा रिश्वत मांगी जा रही थी। 

शिकायत की पुष्टि करने के बाद लोकायुक्त पुलिस दल ने छापामार कार्रवाई की रणनीति बनाई। कार्रवाई में उपपुलिस अधीक्षक दिलीप झरबड़े, निरीक्षक स्वप्निल दास, मंजू तिर्की व अन्य को शामिल किया गया। सर्किट हाउस के सामने पाल पेट्रोल पंप पर जैसे ही असिस्टेंट इंजीनियर आनंद गोल्हानी ने ठेकेदार संतोष सिंह बघेल से ₹30000 लिए, सिविल में मौजूद लोकायुक्त पुलिस दल ने उन्हें हिरासत में ले लिया। 

भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज करके गिरफ्तारी की कार्रवाई की गई।