GWALIOR NEWS- SSIMS HOSPITAL में ASI की मौत, परिजन का हंगामा

ग्वालियर।
मध्य प्रदेश के ग्वालियर के सिम्स हॉस्पिटल में CRPF में पदस्थ ASI की इलाज के दौरान मौत हो जाने के बाद परिजन ने काफी हंगामा किया है। ASI को सांस लेने में परेशानी होने पर हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। डॉक्टर सारी रिपोर्ट नॉर्मल बताते रहे और इधर मरीज की मौत हो गई। घटना रविवार शाम झांसी रोड स्थित हॉस्पिटल की है।

हंगामे का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने हालात को संभालते हुए परिजन को समझाया है, लेकिन परिजन डॉक्टरों पर लापरवाही का मामला दर्ज करने पर अड़े हुए थे। पुलिस ने शव को निगरानी में लेकर पोस्टमार्टम कराने के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जो भी मौत के कारण आएंगे उसके आधार कार्रवाई के लिए कहा है। इसके बाद परिजन माने हैं।

भिंड के शिवनगर निवासी अशोक कुमार श्रीवास CRPF में बतौर ASI पदस्थ थे। कुछ समय पहले तक उनकी पोस्टिंग जम्मू-कश्मीर में थी, लेकिन सांस लेने में तकलीफ के कारण वह अपने घर भिंड आ गए थे। 19 जुलाई को उनको इसी परेशानी के कारण परिजन ने सिम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टर ने सांस से जुड़ी कई जांच कराई थीं। परिजन के मुताबिक उनकी हर जांच सामान्य आई थी। कोई भी गंभीर बीमारी या समस्या उनको डिटेक्ट नहीं हुई थी। डॉक्टर भी उनको सामान्य बता रहे थे। पर 24 जुलाई की शाम अचानक अशोक कुमार की सांसे उखड़ने लगीं और उनकी मौत हो गई, जबकि कुछ देर पहले तक डॉक्टर ने उनको ठीक बताया था। अचानक डॉक्टरों के मुंह से मौत की खबर सुनते ही परिजन भड़क गए। 

परिजन ने अस्पताल में हंगामा खड़ा कर दिया। परिजन ने हंगामा करते हुए सिम्स हॉस्पिटल के डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाकर FIR की मांग की है। हंगामा की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने परिजन को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं मान रहे थे। आखिर में पुलिस ने मामला जांच में लेकर मर्ग कायम कर लिया है। शव को निगरानी में लेकर पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया है।

ASI अशोक कुमार के बेटे ने मनीष ने आरोप लगाया है कि उनके पिता पूरी तरह स्वस्थ हो गए थे। डॉक्टर उनको डिस्चार्ज करने तक की बात कर रहे थे। इसके बाद अचानक मौत हो गई। यह डॉक्टरों की लापरवाही है और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग हमने की है। पुलिस पोस्टमार्टम कराने के बाद मर्ग कायम करने की बात कह रही है।

झांसी रोड थाना प्रभारी संजीव नयन शर्मा का कहना है कि सीआरपीएफ के ASI को इलाज के लिए सिम्स हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई है। परिजन ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है। पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। जाे भी पीएम रिपोर्ट में मौत का कारण सामने आएगा उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी। अभी मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया गया है।