CM RISE SCHOOL सिरदर्द बन गए, सैकड़ों शिक्षकों ने ज्वाइन नहीं किया

भोपाल
। मध्यप्रदेश में दिल्ली से अच्छे सरकारी स्कूल बनाने का, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का सपना टूट गया है। सीएम राइज स्कूलों के नाम पर स्कूल शिक्षा विभाग में इतनी भारी पॉलिटिक्स हुई कि सब कुछ बदल गया। सैकड़ों शिक्षकों ने सीएम सनराइज स्कूल में कार्यभार ग्रहण करने से मना कर दिया। हालात यह है कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा गुपचुप तरीके से आदेश जारी किए जा रहे हैं। उन्हें ऑनलाइन अपलोड नहीं किया जा रहा। 

आदेश क्रमांक एफ 1-21 में 6 उच्च माध्यमिक शिक्षकों की पदस्थापना जारी की गई है। जबकि आदेश क्रमांक एफ 1-25 में 15 प्रधानाध्यापक माध्यमिक शालाओं के पदस्थापना आदेश निरस्त किए गए हैं क्योंकि उन्होंने सीएम राइज स्कूल में कार्यभार ग्रहण नहीं किया। आदेश क्रमांक एफ 1-25 में 18 व्याख्याता/ उच्च माध्यमिक शिक्षकों की लिस्ट जारी की गई है जिन्होंने सीएम राइज स्कूलों में उप प्राचार्य के पद पर कार्यभार ग्रहण नहीं किया। सभी के पदस्थापना आदेश निरस्त किए गए हैं। 

आदेश क्रमांक एफ 1-25 में 7 व्याख्याता/ उच्च माध्यमिक शिक्षकों की लिस्ट जारी की गई है जिन्हें सीएम सनराइज स्कूलों में उप प्राचार्य के पद पर पदस्थ किया गया है। आदेश क्रमांक एफ 1-25 में 120 व्याख्याता/ उच्च माध्यमिक शिक्षकों की लिस्ट जारी की गई है जिन्होंने सीएम सनराइज स्कूलों में कार्यभार ग्रहण नहीं किया। सभी के पदस्थापना आदेश निरस्त किए गए। 

एफ 1-25 में 42 व्याख्याता/ उच्च माध्यमिक शिक्षकों की एक और लिस्ट है जिन्होंने सीएम सनराइज स्कूल में वाइस प्रिंसिपल के पद पर कार्यभार ग्रहण नहीं किया। सभी के पदस्थापना आदेश निरस्त करने पड़े।