Small business ideas- आप भी कमा सकते हैं एटीएम बूथ से 40000 रुपए मंथली इनकम, ध्यान से पढ़िए

बहुत कम लोग जानते हैं कि RBI की White Label ATM योजना के तहत कोई भी व्यक्ति एटीएम बूथ संचालक बन सकता है। प्रत्येक ट्रांजैक्शन पर उसको ट्रांजैक्शन फीस मिलती है। यहां तक कि यदि कोई व्यक्ति अपना बैलेंस चेक करता है तब भी ₹2 ट्रांजैक्शन फीस मिलती है। इसके लिए आपके पास केवल 10X10 की दुकान होना चाहिए। यदि आप RBI की शर्तों को पूरा करते हैं तो अपनी दुकान में एटीएम मशीन लगा सकते हैं। 

आसान भाषा में समझिए। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने White Label ATM को मंजूरी दी है। इसके कारण पूरा बिजनेस मॉडल ही बदल गया है। एक तरफ सरकारी बैंक आपसे आपकी दुकान किराए पर लेते हैं तो दूसरी तरफ व्हाइट लेबल एटीएम स्कीम के तहत आप एटीएम का संचालन करते हैं। इसका फायदा यह होता है कि एटीएम से चोरी एवं किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की संभावना ही लगभग खत्म हो जाती है। भारत का कोई भी नागरिक एटीएम संचालक बन सकता है। 

एटीएम बूथ संचालक बनने के लिए क्या करना होगा 

  • आवेदक का आपराधिक रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए। 
  • एटीएम बूथ ऐसे स्थान पर स्थापित किया जाएगा जहां सरकारी या प्राइवेट बैंक का एटीएम नहीं है। 
  • एटीएम बूथ क्षेत्र की प्राइम लोकेशन पर होना चाहिए। 
  • ग्रामीण क्षेत्र की प्राइम लोकेशन को प्राथमिकता दी जाती है।
  • इसके बाद आपको सिर्फ आवेदन करना है और RBI की लिस्ट में मौजूद कंपनी के निर्देशों का पालन करना है। 

एटीएम फ्रेंचाइजी की पूरी प्रक्रिया पॉइंट-टू-पॉइंट

  • RBI की ऑफिशियल वेबसाइट पर White Label ATM के बारे में जानकारी दी गई है, कृपया ध्यानपूर्वक पढ़ें। 
  • RBI की ऑफिशल वेबसाइट पर White Label ATM बूथ लगाने के लिए अधिकृत कंपनियों की लिस्ट और उनका पता भी दिया हुआ है। 
  • आप उन कंपनियों की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं। 
  • आपसे आप के डाक्यूमेंट्स और लोकेशन के फोटो वीडियो मांगे जाएंगे। 
  • आपकी साइट अप्रूव होने के बाद फिजिकल वेरीफिकेशन होगा। 
  • सभी प्रकार के क्लीयरेंस हो जाने के बाद संबंधित कंपनी की तरफ से LOI (letter of intent) मिलेगा। 
  • LOI मिल जाने के बाद आपको कंपनी के अकाउंट में सेटअप पास जमा करना है। 
  • कृपया ध्यान दें LOI से पहले तक की पूरी प्रक्रिया के लिए आपको किसी भी प्रकार का कोई भुगतान नहीं करना। 
  • LOI के बाद भी आपको किसी भी व्यक्ति या एजेंसी को कोई भुगतान नहीं करना। 
  • जिस कंपनी के द्वारा LOI जनरेट किया गया है उस कंपनी के अकाउंट में सेटअप का कॉस्ट जमा करना है जो लगभग ₹100000 होती है। 
  • संबंधित कंपनी एटीएम मशीन, उसका इनवर्टर, बैटरी, एसी, सीसीटीवी कैमरा और बाकी सब कुछ अपनी तरफ से लगा कर देगी। 
  • इसके बाद आपको अपने एटीएम का संचालन शुरू करना है।
  • एटीएम मशीन से ज्यादा ट्रांजैक्शन होंगे उतनी ज्यादा फीस आपको मिलेगी। 
  • एक अनुमान है कि यदि प्रतिदिन 100 या फिर महीने में 3000 ट्रांजैक्शन होते हैं तो आपको ₹25000 ट्रांजैक्शन फीस मिलेगी। जबकि यदि महीने में 6000 ट्रांजैक्शन होते हैं तो आपकी फीस ₹50000 नहीं बल्कि ₹65000 से ज्यादा हो जाएगी। 
  • यहां क्लिक करके आप RBI के May 25, 2022 वाले पब्लिकेशन में प्रकाशित सेवा प्रदाता कंपनियों की लिस्ट पढ़ सकते हैं। 
  • रिसर्च एंड डेवलपमेंट के लिए कृपया RBI White Label ATM के बारे में जानकारी बताएं एवं गूगल पर White Label ATM सर्च करें।