मध्य प्रदेश मानसून- बंगाली बादलों की लोकेशन कंफर्म नहीं, अरबी बादलों ने धूम मचा दी - MP WEATHER FORECAST

भोपाल
। मध्यप्रदेश में प्री मानसून एक्टिविटी शुरू हो गई है। अरब सागर से आने वाले बादल खंडवा के आसमान तक पहुंच गए हैं। कई इलाकों में 3 इंच ज्यादा बारिश हो गई है लेकिन पश्चिम बंगाल से आने वाले बादलों की अब तक कोई लोकेशन नहीं मिल रही है। कहां है और कब तक पहुंचेंगे, फिलहाल किसी के पास कोई भविष्यवाणी नहीं है। 

मध्य प्रदेश में मानसून दोनों तरफ से आता है, और ज्यादातर एक साथ आता है। अरब सागर के बादल खरगोन-खंडवा की तरफ से और पश्चिम बंगाल के बादल बालाघाट- अनूपपुर की तरफ से मध्य प्रदेश की सीमा में प्रवेश करते हैं। अक्सर ऐसा होता है कि दोनों समुद्रों के बादल मध्यप्रदेश के आसमान में आकर मिलते हैं। 

इस बार ऐसा नहीं हो रहा है। अरब सागर के बादल मध्यप्रदेश में प्रवेश कर चुके हैं जबकि पश्चिम बंगाल के बादलों का इंतजार है। यदि बंगाल की खाड़ी के बादल कमजोर निकले तो 40% मध्यप्रदेश में सूखे की स्थिति बन सकती है। मौसम विभाग की तरफ से ताजा समाचार मिल रहे हैं कि तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में मानसून की गतिविधियां शुरू हो रही है। उम्मीद है यह बादल जल्दी ही मध्य प्रदेश तक पहुंच जाएंगे।

MP WEATHER FORECAST- मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान

भारत मौसम विज्ञान विभाग के मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार नर्मदा पुरम उज्जैन इंदौर भोपाल ग्वालियर रीवा सागर शहडोल एवं जबलपुर संभाग के सभी जिलों में कुछ स्थानों पर तेज आंधी चलने और हल्की बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा कुछ स्थानों पर वज्रपात भी हो सकता है। येलो अलर्ट जारी किया गया है कृपया सावधान रहें। मौसम विभाग के अनुसार दिनांक 15 एवं 16 जून से वर्षा की गतिविधियों में बढ़ोतरी की संभावना है।