MP NEWS- खरगौन में शिक्षक और पंचायत सचिव सस्पेंड, 6 पर FIR

खरगोन।
मध्य प्रदेश के खरगौन जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में अपात्रों को लाभ दिलाने और विभिन्न जोड़ो से पंजीयन कराने के नाम पर अवैध वसूली करने वाले लोगों पर कोतवाली थाने में प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।

शासकीय योजना में अवैध वसूली को लेकर 31 मई को सीएम हेल्पलाईन पर शिकायत के बाद कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने डिप्टी कलेक्टर ओमनारायण सिंह और नगर पालिका सीएमओ प्रियंका पटेल को मामले की जांच सौंपी। दरअसल 31 मई को ग्राम पंधानिया के विजय राणे ने सीएम हेल्प लाइन पर शिकायत की थी। इसमें विजय ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत खरगोन में गत 21 मई को हुए आयोजन में विजय कोचले द्वारा पांच हजार रुपये की मांग करने के आरोप लगाए थे। वहीं ऐसे अन्य मामले भी सामने आए। इस पर कलेक्टर ने डिप्टी कलेक्टर सिंह और सीएमओ पटेल को संयुक्त रूप से जांच सौंपी थी। 

जांच में शिकायत सही पाए जाने पर पाए गए शासकीय हाईस्कूल कदवाली के शिक्षक रोहित मनाग्रे और मांडवखेड़ा के सचिव मालसिंह बर्डे को निलंबित किया गया था। वहीं विजय कोचले, विश्राम डुडवे, बलवंत डावर, नरेंद्र बड़ोले, श्यामलाल उपाध्याय चंदावड़ व अन्य लोगों पर अवैध वसूली व धमकाने जैसे तथ्यों व बयानों के आधार पर FIR के निर्देश दिए गए थे। जिला मुख्यालय सहित कुल सात स्थानों पर योजना के तहत 531 जोड़ों का विवाह हुआ है।

एसपी धर्मवीर सिंह ने बताया कि प्रशासन से मिली जांच रिपोर्ट के आधार पर नरेंद्र बड़ोले, श्यामलाल उपाध्याय, विजय कोचले, भानूश्री दीक्षित, निलंबित शिक्षक रोहित मनाग्रे और दिनेश हाटफाड धुलकोट के खिलाफ खरगोन थाने पर एफआइआर दर्ज की गई है। एसपी ने बताया कि एसआइटी के माध्मय से पोर्टल पर पंजीकृत प्रत्येक हितग्राही के बयान लिए जाएंगे।