INDORE में JSM डोर के मालिक ने अकाउंटेंट को कार में 3 घंटे पीटा, FIR

इंदौर। 
मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में JSM डोर के मालिक ने अपने ही अकाउंटेंट को किडनैप कर उसकी पिटाई कर दी। परिवार वालों से 6 लाख रुपए मिलने के बाद ही उसे छोड़ा। पुलिस ने प्लायवुड व्यापारी पर केस दर्ज कर लिया है। इधर, व्यापारी ने अकाउंटेंट पर 6 लाख रुपए के गबन का आरोप लगाया है। फिलहाल व्यापारी पुलिस की पकड़ से बाहर है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

TI शंशिकांत चौरसिया के मुताबिक शरद कुमार प्रजापत की शिकायत पर सोनू छाबड़ा और मनीष आसुदानी के खिलाफ कार में बैठाकर मारपीट करने का आरोप लगाया है। शरद ने पुलिस को बताया कि रविवार को मुझे सोनू और मनीष ने बुलाया। मुझे दो-तीन घंटे तक कार में घुमाते रहे और पीटते रहे। मुझे फोन देकर कहा कि 6 लाख रुपए नहीं दोगे तब तक नहीं छोड़ेंगे। इसके चलते मैंने कार में बैठे-बैठे ही मां और भाई को फोन लगाया। वे छह लाख रुपए लेकर आए और सोनू व मनीष को फिरौती दी तब जाकर उन्होंने मुझे छोड़ा।

मामले में सोनू छाबड़ा ने बताया कि उनकी पालदा में जेएसएम डोर के नाम से फैक्ट्री है। यहां दो साल पहले शरद को अकाउंटेंट के पद पर नियुक्त किया था। कंपनी को पैसों के लेनदेन के मामले में शक हो रहा था। हमने कुछ दिन पहले अपने खाते चेक करवाए। जांच में पता चला कि शरद ने लेनदेन में गड़बड़ी की है और अपने ही रिश्तेदारों को पैसे दे दिए हैं। यह जानकारी सामने आने के बाद हमने शनिवार को शरद को नौकरी से निकाल दिया था। इसके बाद रविवार को हमने उसे कंपनी में बातचीत के लिये बुलाया था।

व्यापारी सोनू ने बताया कि गबन पकड़ में आने के बाद शरद ने पहले खुद रुपए चुकाने की बात कही थी। रविवार को हमने उसे बातचीत के लिए बुलाया था। लेकिन उसने अपनी मां और भाई को भी बुला लिया। उन्होंने हमसे कहा कि शरद की तीन माह बाद शादी है, हम थोड़ा-थोड़ा पैसा करके चुका देंगे। यह कहकर वे तीनों वहां से चले गए। और बाहर जाकर मेरे ही खिलाफ रिपोर्ट लिखा दी।